WHO ने जारी की 2021 में स्वास्थ्य चुनौतियों की लिस्ट, कहा इन 10 बातों का रखना होगा ध्यान


WHO ने जारी की 2021 में स्वास्थ्य चुनौतियों की लिस्ट, कहा इन 10 बातों का रखना होगा ध्यान

कोरोना महामारी के कारण दुनियाभर में हाहाकार मचा हुआ है। अभी तक पूरी दुनिया में 1.75 मिलियन से ज्यादा कोरोना के केस सामने आ चुके हैं जिसके चलते कई देशों की स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा गई है। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 2021 में वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों की एक सूची जारी की है, जिनसे दुनिया को 2021 में निपटना पड़ेगा। WHO ने कहा कि कोरोना महामारी ने दुनिया में हेल्थ सिस्टम की प्रगति को 20 सालों पीछे कर दिया है। ऐसे में 2021 में वैक्सीन को प्रभावी रूप से लोगों तक पहुंचाने के लिए देशों को अपनी स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने की जरूरत है। WHO के मुताबिक 2021 में स्वास्थ्य चुनौतियों का सामना करने के लिए इन 10 बातों पर ध्यान देना होगा -  


स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए वैश्विक एकजुटता का निर्माण करना होगा 

देशों को स्वास्थ्य आपात स्थितियों के लिए अपनी तैयारी में सुधार करने के लिए मिलकर काम करने की आवश्यकता है। इसमें सबसे कमजोर समुदायों को प्राथमिक रूप से टारगेट करने की आवश्यकता है, जिसमें शहरी सेटिंग्स, छोटे द्वीप देशों और कॉन्फ्लिक्ट सेटिंग्स शामिल हैं।


कोविड -19 के टीकों, दवाओं और परीक्षणों की गति को बढ़ाना होगा 

WHO का उद्देश्य जरूरतमंदों तक टीकों और उपचारों की पहुंच को सुगम बनाना है। WHO ने कहा कि वह 2 बिलियन वैक्सीन वितरित करेगा, 245 मिलियन इलाज, निम्न और मध्यम आय वाले देशों में 500 मिलियन लोगों के लिए परीक्षण स्थापित करेगा और उनका समर्थन करने के लिए आवश्यक स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत कराएगा। 

इसे भी पढ़ें: जल्द शुरू होगा भारत में कोरोना टीकाकरण, जानें क्या है रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस

 

स्वास्थ्य प्रणाली को आधुनिक रूप से विकसित करना होगा

WHO ने कहा कि देशों को अपने स्वास्थ्य प्रणालियों को आधुनिक रूप से मजबूत करने की आवश्यकता होगी ताकि वे कोविड -19 जैसी आपात स्थितियों का सामना कर सकें।


स्वास्थ्य असमानताओं से निपटना होगा 

WHO देशों के साथ मिलकर आय, लिंग, जातीयता, शिक्षा, व्यवसाय / रोजगार की स्थिति, विकलांगता आदि से संबंधित स्वास्थ्य असमानताओं को दूर करने के लिए काम करेगा।


स्वास्थ्य देटा और सूचना प्रणालियों को मजबूत करना होगा 

WHO ने कहा है कि देशों को अपने स्वास्थ्य संबंधी लक्ष्यों की दिशा में प्रगति के बारे में रिपोर्ट करने के लिए अपने स्वास्थ्य डेटा और सूचना प्रणालियों की क्षमता को मजबूत करने की आवश्यकता होगी। WHO  के मुताबिक यह आसपास के सभी वैज्ञानिक विकासों की निगरानी और मूल्यांकन करेगा। 


संचारी रोगों से निपटने के लिए शुरू करना होगा टीकाकरण अभियान 

अगले साल WHO उन देशों को पोलियो और अन्य बीमारियों के टीके लगाने में मदद करेगा, जो महामारी के दौरान छूट गए थे।


कॉम्बैट ड्रग रेजिस्टेंस

WHO के मुताबिक देश संक्रामक रोगों को तभी हरा पाएंगे, जब उनके पास उनके इलाज के लिए प्रभावी दवाएं हों। WHO ने कहा कि यह वैश्विक निगरानी में सुधार करेगा और राष्ट्रीय कार्रवाई योजनाओं का समर्थन करना जारी रखेगा। इसके साथ ही यह सुनिश्चित करेगा कि रोगाणुरोधी प्रतिरोध को स्वास्थ्य आपात स्थिति तैयारियों की योजनाओं में शामिल किया गया है।


एनसीडी और मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों को रोकना और उनका इलाज करना होगा 

WHO के अनुसार, 2019 में मृत्यु के शीर्ष 10 कारणों में से 7 के लिए गैर-संचारी रोग (एनसीडी) जिम्मेदार थे और 2020 ने हमें सिखाया कि एनसीडी वाले लोग कोविड -19 के लिए कैसे असुरक्षित थे। WHO ने कहा कि वर्ष 2021 में यह सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए कि बीमारियों के लिए स्क्रीनिंग और उपचार कार्यक्रम जरूरतमंदों के लिए सुलभ हैं।


बेहतर और स्वस्थ  दुनिया का निर्माण करें  

WHO  ने कहा कोविड -19 ने हमें अवसर दिया है कि हम 2021 में "बेहतर, हरियाली से भरी और स्वस्थ दुनिया" का निर्माण करें। 


आपसी दरारों को कम करें 

WHO के मुताबिक स्वास्थ्य चुनौतियों का सामना करने के लिए देशों को अधिक से अधिक एकजुटता प्रदर्शित करने की आवश्यकता है। WHO ने कहा कि राष्ट्रों, संस्थानों, समुदायों और व्यक्तियों को अपने आपसी मतभेदों को भूलना चाहिए।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts