बेहद सरल योगासन है ताड़ासन, जानिए इसका महत्व


बेहद सरल योगासन है ताड़ासन, जानिए इसका महत्व

यह तो हम सभी जानते हैं कि योगासन कई गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने में मददगार है। लेकिन कुछ लोग समझते हैं कि योगासन में कठिन आसनों का अभ्यास करना होता है और इसलिए वह योगासन का अभ्यास नहीं करते। अगर आप भी योगाभ्यास की शुरूआत कर रहे हैं तो ताड़ासन का अभ्यास किया जा सकता है। यह एक बेहद सरल योगासन है, जिसे बच्चों से लेकर बड़ों तक कोई भी कर सकता है और इस सरल आसन के जरिए आपको कई तरह के लाभ भी प्राप्त होते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से−

 

करने का तरीका−

ताड़ासन का अभ्यास करने के लिए आप सबसे पहले सीधे खड़े हो जाए। इस दौरान आपकी कमर एंव गर्दन सीधी होनी चाहिए। अब अपने हाथों को सामने की तरफ से ले जाते हुए सिर के ऊपर करें और सांस लेते हुए धीरे−धीरे पूरे शरीर को खींचें। आपको शरीर पर खिंचाव पैर की अंगुली से लेकर हाथ की अंगुलियों तक महसूस होगा। कुछ देर इसी अवस्था में रहें। अब धीरे−धीरे सांस छोड़ते हुए प्रारंभिक स्थिति में आएं। इस तरह एक चक्र पूरा हुआ। आप अपनी क्षमतानुसार इसका अभ्यास कर सकते हैं।


लाभ-

ताड़ासन का अभ्यास करने के कई लाभ है। सबसे पहले तो यह हाइट को बढ़ाने में मददगार है। इसलिए बच्चों के लिए ताड़ासन का नियमित अभ्यास करना काफी अच्छा माना जाता है। वैसे वयस्क भी अगर नियमित रूप से ताड़ासन का अभ्यास करते हैं तो इससे उनकी हाइट कुछ हद तक बढ़ जाती है।

 

अगर आप अपना अतिरिक्त वजन कम करना चाहते हैं तो भी ताड़ासन का अभ्यास आपके लिए लाभदायक है। दरअसल, ताड़ासन का अभ्यास करते समय आपके पूरे शरीर पर खिंचाव आता है और इससे पूरी शरीर की चर्बी कम होती है। 

 

अगर आप शरीर में कई तरह के दर्द जैसे कमर दर्द, मांसपेशियों के दर्द या घुटने के दर्द से परेशान हैं तो आपको इस आसन का अभ्यास अवश्य करना चाहिए।


रखें इसका ध्यान-

अगर आपको घुटने में हमेशा ही दर्द रहता है तो आप ताड़ासन या अन्य कोई भी आसन करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें। 

 

वहीं गर्भवती महिलाओं के लिए इस आसन का अभ्यास करना उचित नहीं माना जाता। 

 

अगर आप पहली बार ताड़ासन का अभ्यास कर रहे हैं तो किसी विशेषज्ञ की देख−रेख में करें। इससे आपको योगासन का अधिकतम लाभ होगा। 

 

मिताली जैन

 

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts