योगा के कुछ आसान टिप्स से पाएं सवाईकल के दर्द से छुटकारा


योगा के कुछ आसान टिप्स से पाएं सवाईकल के दर्द से छुटकारा

कम्प्यूटर या लैपटॉप पर घंटो तक एक ही पोश्चर में बैठकर काम करने से अक्सर गर्दन के पिछले हिस्से और कंधों में दर्द की शिकायत होती है जिसे सर्वाइकल पेन कहते हैं, सर्वाइकल पेन की शिकायत हर उम्र के लोगों में सामान्य रूप से देखी जा रही है। मोबाइल पर घंटो तक एक ही पोश्चर में बात करने से भी सर्वाइकल की परेशानी हो सकती है। शुरू में यह समस्या छोटी लगती है लेकिन समय से इलाज ना होने से यह खतरनाक रूप भी ले सकती है। योगासन के द्वारा सर्वाइकल की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।


सवाईकल के लिए योगासन


बालासन

नियमित रूप से बालासन का अभ्यास आपको सर्वाइकल के दर्द से राहत दे सकता है। इसके लिए आप वज्रासन की मुद्रा में बैठें फिर अपने दोनों हाथों को ऊपर की तरफ ले जाएं। हाथ सिर की दिशा में सीधे रहें, इस मुद्रा में थोड़ी देर तक रहें हाथों को समान दूरी पर बनायें रखें, अब सांस छोड़ते हुए हाथों को नीचे लाएं, हाथों को जमीन तक लाएं। सिर को जमीन से स्पर्श कराएं। अब सामान्य स्थिति में वापस आ जाए। इस मुद्रा को पांच से सात बार दोहराएं।

   

ताड़ासन

ताड़ासन के नियमित अभ्यास से आपको आपको सर्वाइकल दर्द से राहत तो मिलती ही है साथ ही यह आपकी पूरी बॉडी को भी एक्टिव बनाने में सहायक है। ताड़ासन में आप सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं अब दोनों एड़ियों को मिला लें। दोनों हाथों को ऊपर ले जाएं दोनों हथेलियों को प्रणाम की मुद्रा में आपस में मिला लें, सांस लें और हाथों को स्ट्रेच करें। थोड़ी देर इसी मुद्रा में बनें रहें सांस छोड़ते हुए हाथों को नीचे ले आएं।


भुजंगासन

भुजंगासन सर्वाइकल दर्द के लिए सबसे प्रभावी आसान है। इसके लिए आप पेट के बल लेट जाएं, दोनों हथेलियों को अपने चेस्ट की सीध में ले आएं। अब हथेलियों की सहायता से सीने को ऊपर की तरफ उठायें, ध्यान रहें सारा भार हथेलियों पर ही रहे गहरी सांस लें और सिर को पीछे की ओर ले जाएं, कुछ देर इस मुद्रा में बनें रहें, अब सांस छोड़ते हुए वापस रिलेक्स की मुद्रा में आएं। भुजंगासन से आपको स्ट्रेस से राहत मिलती है और डबल चिन की परेशानी भी दूर होती है।


मार्जरी आसन

मार्जरी आसन में आपकी पूरी बॉडी स्ट्रेच होती है। मार्जरी आसन के लिए पैरों और हाथों के बल आ जाएं, सिर को सीने की तरफ ले जाएं और कमर को ऊपर की ओर ले जाएं। मार्जरी आसन से बॉडी स्ट्रेच होती है और आपको रिलैक्स फील होता है।


धनुरासन

धनुरासन में आपको सर्वाइकल दर्द से छुटकारा मिलता है और इससे सर्वाइकल बोन्स को भी आराम पहुंचता है। धनुरासन में आप पेट के बल लेट जाएं पैरों के बीच ज्यादा दूरी ना रखें, दोनों हाथ शरीर की तरफ हो। घुटनों को मोड़ें और अपनी कमर के पास ले आएं, दोनों एड़ियों को हाथों से पकड़ें। अब सांस लें और सीने को जमीन से ऊपर उठायें और एड़ियों को खीचतें हुए सिर की सीध में लाएं। इस आसन में आपका शरीर एक धनुष के आकार का होगा। बॉडी को ज्यादा स्ट्रेच ना करें, अब सामान्य मुद्रा में वापस आ जाएं।


मकरासन

मकरासन अर्थात मगरमच्छ जैसी मुद्रा, इससे आपको सर्वाइकल के दर्द के साथ ही तनाव की समस्या से मुक्ति मिलेगी। मकरासन में सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं और दोनों कोहनियों को जमीन पर रख दे। अब अपनी चिन को दोनों हाथों पर रख दें, सिर और कंधो को ऊपर उठायें। दोनों पैरों के बीच दूरी सामान्य दूरी बनायें। सांस लें और आंखे बंद करके ध्यान केंद्रित करें और शरीर को ढीला छोड़े। कुछ देर बाद आंखे खोलें और इस मुद्रा को दोहराएं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts