रामदेव बाबा के जीवन के ऐसे पांच खास नियम जो आपके लिए भी होंगे लाभकारी


रामदेव बाबा के जीवन के ऐसे पांच खास नियम जो आपके लिए भी होंगे लाभकारी

बाबा रामदेव भारत के जानी मानी हस्तियों में से एक हैं योग हो या आयुर्वेद हर जगह बाबा रामदेव की एक सटीक छवि बनी हुई है। बाबा रामदेव के भक्त लाखो करोडों संख्या में है जो उन पर आंख बन्द करके विश्वास करते हैं। बाबा रामदेव 53 साल के हो चुके हैं और आज भी बहुत एक्टिव और फुर्तीले हैं। बाबा रामदेव लोगो को हमेशा आयुर्वेद अपनाने और नियमित योगा करने की सलाह देते रहते हैं।

 

बाबा के आज भी फुर्तीले और एक्टिव रहने का कारण उनकी जीवनशैली है। वो आज भी नियमित रूप से योगा करते हैं। और आयुर्वेदिक चीजों का सेवन करते हैं। इन सभी चीज़ो के कारण बाबा का शरीर काफी लचीला और मजबूत हो चुका है। उनकी तरह ही आजकल हर कोई स्वस्थ और सेहतमंद रहना चाहता है। इसलिए आज हम आपको बाबा रामदेव के बताए गए पांच नियमों के बारे में बताएंगे। जिसे हर कोई आसानी से फॉलो कर सकता है।


पहला नियम 

यदि आपको देरी से उठने की आदत है, तो सबसे पहले सुबह जल्दी उठने की आदत डालें और कोशिश करें कि आप सूर्योदय होने से पहले बिस्तर छोड़ दें। उसके बाद हाथ-मुँह धोएं उसके बाद अपने दिन की शुरुआत पानी पीने से करें। हम सदियों से सुनते आए हैं, कि जल ही जीवन है तो इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रतिदिन सुबह दो ग्लास पानी अवश्य पिएं। साथ ही ध्यान रखें कि पानी हल्का गुनगुना हो ताकि जिन लोगों को कब्ज, जोड़ों में दर्द और मोटापे जैसी समस्या है उस मे उन्हें राहत मिले। सुबह गर्म पानी पीने से ऐसी परेशानियों से निजात पाने में बहुत मदद मिलेगी।

हालांकि जिन लोगों को कोई रोग नही है, उन्हें भी गर्म या गुनगुने पानी का सेवन करना चाहिए। ताकि आने वाले समय मे उनकी सेहत बिल्कुल स्वस्थ रहे। लेकिन पानी पीते समय कुछ छोटी-छोटी बातों का अवश्य ध्यान रखें। कभी भी खड़े होकर पानी ना पिएं, हमेशा एक स्थान पर बैठकर ही पानी-पीना चाहिए साथ ही जल्दबाज़ी में पानी पीने से बचें। हमेशा शांति और तसल्ली से ही पानी-पीना चाहिए। सुबह फ्रेश होकर 20-25 मिनट योगा व प्रणायाम भी करें।


दूसरा नियम

भारत में रहने वाले लोगों को आमतौर पर सुबह उठ के चाय पीने की आदत होती है। जो की एक बहुत बुरी आदत है। क्योंकि सुबह-सुबह खाली पेट चाय पीना बीमारियों को न्योता देना होता है। सुबह चाय पीने के कारण कई बीमारियों का जन्म हो जाता है। इन सभी परेशानियों से बचने के लिए आपको आज ही चाय पीनी छोड़ देनी चाहिए।

 

चाय की जगह आप सुबह आंवला-एलोवेरा का जूस का सेवन कर सकते हैं। जो किसी भी स्टोर पर आपको आसानी से मिल जाएगा। आंवला-एलोवेरा का जूस शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है। इसके सेवन से कई बीमारियां जड़ से खत्म हो जाती है। इन जूस का सेवन करते रहने से कुछ ही दिनों में आपको अपने शरीर में फर्क महसूस होने लगेगा। साथ ही आप अच्छी सेहत के लिए सुबह-सुबह तुलसी व नीम की पत्ती चबा सकते हैं। यह भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।


तीसरा नियम 

कई लोग सुबह सुबह जल्दीबाज़ी में नाश्ता करना भूल जाते हैं या देरी होने के कारण नाश्ता छोड़ कर चले जाते हैं। सुनने और बोलने में यह बहुत ही आम बात लगती है लेकिन जीवन मे कभी भी ब्रेकफास्ट छोड़कर नही जाना चाहिए। हमेशा समय पर नाश्ता करना चाहिए। क्योंकि अच्छा नाश्ता ही हमें पुरे दिन एक्टिव और स्वस्थ रखता है। साथ ही ध्यान रखें, कि आपका सुबह का नाश्ता हमेशा पौष्टिक आहारों से भरा हो।

 

सुबह नाशते में अलग-अलग चीजों को शामिल करें जैसे कभी इडली-सांभर तो कभी अंकुरित अनाज, दही, छाछ, दूध या जूस का ही सेवन करें। आप चाहें तो ओट्स को गर्म दूध और चीनी के साथ खा सकते हैं। साथ हो ध्यान रखें कि नाश्ते में कभी भी रोटी या पराठे के साथ अचार बिल्कुल भी ना खाएं। साथ ही हफ्ते में एक या दिन उपवास अवश्य रखें।


चौथा नियम 

कभी भी खाने को जल्दी-जल्दी नहीं खाना चाहिए। यह सेहत के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है। खाने को हमेशा अच्छे से चबाकर ही खाना चाहिए। ऐसा करने से खाना अच्छी तरह से पचता है और शरीर को पोषक तत्व भी ज्यादा मिलते हैं। साथ ही खाना बनाते समय भी उसके अंदर इस्तेमाल हो रहे तेल का भी ध्यान रखें।

 

खाना बनाने के लिए अलग-अलग प्रकार के तेलों का इस्तेमाल करें जैसे सोयाबीन, तिल व सरसों के तेल से सब्जी बनाएं। क्योंकि हर तरह के तेल में अलग-अलग पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जो शरीर के लिए काफी जरूरी होते हैं। इसी तरह गेहूं की रोटी के साथ-साथ मक्का, बाजरा और ज्वार की रोटी भी खानी चाहिए।


पांचवा नियम 

ज्यादातर लोगों को दही छाछ बहुत ज्यादा पसंद होती है और वो किसी भी समय इसका सेवन करते हैं। वैसे तो दही स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। लेकिन रात के खाने में दही को कभी भी शामिल नहीं करना चाहिए। साथ ही रात का खाना हमेशा सोने से 3-4 घंटे पहले ही खा लेना चाहिए। कभी भी  खाना खाने के तुरंत बाद भुलकर भी पानी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि यह सेहत के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। चाहे आपको कितनी भी प्यास लगी हो लेकिन खाना खाने के बाद कम से कम एक घंटे तक पानी ना पियें।


डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts