जानिए सूर्य नमस्कार से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें


जानिए सूर्य नमस्कार से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

योग हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। योग बिना दवाई खाए बीमारी को ठीक करने में काफी असरदायक साबित होता है। योग को काफी लोगों ने अपना रखा है लेकिन क्या आपको योग के असल फायदे पता हैं। योग  शरीर, मन और आत्मा को शांति देने में सहायक होता है। योग करने से गुस्सा, जलन और किसी के प्रति ईर्ष्या से मुक्ति मिलती है। वैसे तो योग काफी प्रकार के होते हैं  लेकिन आज हम आपको योग में "सूर्य नमस्कार" के बारे में बताएंगे। 

सूर्य नमस्कार क्या होता है

योग में सबसे पहले सूर्य नमस्कार किया जाता है, जिसमें मनुष्य अपने दोनों हाथ जोड़ कर एक पैर पर खड़ा होकर सूर्य की तरफ नमस्कार करता है। योग के समय सूर्य नमस्कार करने से शरीर योग करने के अनुकूल बनता है। सूर्य नमस्कार की प्रथा ऋषियों के समय से चलती आ रही है। जिसमें उनका कहना था कि शरीर के अंगों में देवताओं का वास रहता है। नाभि के पीछे सूर्य का वास होने की वजह से सबसे पहले सूर्य नमस्कार किया जाता है। सूर्य नमस्कार के लगातार इस्तेमाल करने से शरीर में रचनात्मक शक्ति उत्पन्न होती है। 

सूर्य नमस्कार करने के फायदे

योग तो बस शरीर को हर तरह से फायदेमंद रखने के लिए ही बनाया गया है, ऐसे ही सूर्य नमस्कार करने से भी शरीर में काफी फायदे होते है जैसे शरीर में लचीलापन आने लगता है और आपकी बॉडी फ्लेक्सिबल हो जाती है। सूर्य नमस्कार करने से तेज़ी से वजन कम होने लगता है। सूर्य नमस्कार करने से शरीर में काफी बदलाव होने से शरीर की पाचन क्रिया ठीक हो जाती है। 

इन बिमारियों से देता है छुटकारा

सूर्य नमस्कार शरीर के पाचन तंत्र से लेकर काफी चीजों को ठीक करता है और साथ ही डिप्रेशन, तनाव, मोटापा और सांस सबंधी बिमारियों से भी छुटकारा देता है। योग बिना दवाई के ही शरीर की बीमारी को ठीक करने में मददगार होता है। योग करने से शरीर में मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिसकी वजह से शरीर में मोटापा कम होने लगता है और काफी बीमारियां ऐसे ही नहीं लग पातीं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts