नजर अंदाज न करें गर्भपात गोली लेने के बाद हो रहे पेट दर्द को


नजर अंदाज न करें गर्भपात गोली लेने के बाद हो रहे पेट दर्द को

आज के समय में परिवार नियोजन की कई सारी योजनाएं हैं, जिसे अपनाकर कपल्स अपनी फैमिली को मनमुताबिक प्लान कर सकते हैं। लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि आप ना चाहते हुए भी गर्भवती हो जाती हैं। ऐसे में उन अनचाहे गर्भ को गिराने के लिए कुछ महिलाएं गर्भपात गोली का भी इस्तेमाल करती हैं। गर्भपात गोली के कुछ समय बाद पेट में दर्द होता है। हालांकि यह दर्द होना सामान्य है, लेकिन कई बार यह दर्द काफी तेज व असहनीय होता है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं−


हैवी ब्लीडिंग

पेट में तेज दर्द का एक मुख्य कारण है हैवी ब्लीडिंग। दरअसल, जब गोली लेने के बाद गर्भपात होता है तो आपको काफी अधिक ब्लीडिंग होती है। इतना ही नहीं, यह ब्लीडिंग एक−दो दिन तक लगातार और बहुत अधिक हो सकती है। ऐसे में महिला काफी कमजोर हो जाती है और उसके पेट के साथ−साथ, पेल्विक एरिया और पीठ के निचले हिस्से में भी दर्द शुरू हो जाता है।

 

गर्भ का ना गिरना

गर्भपात की गोली लेना भले ही अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने का आसान रास्ता हो, लेकिन यह उतना रिस्की भी है। कई बार ऐसा भी होता है कि गोली लेने के बाद गर्भपात तो हो जाता है, लेकिन महिला के शरीर से भ्रूण पूरी तरह से नहीं निकलता। जिसके कारण महिला को लगातार कई दिनों तक पेट में काफी तेज दर्द होता है। अगर इस स्थिति को नजरअंदाज किया जाता है तो इससे आपको कई तरह के संक्रमण होने या अन्य बीमारियां होने का खतरा बन जाता है। 


समय का ध्यान

गर्भपात की गोली लेने का एक समय होता है। मसलन, आप गर्भपात की गोली सिर्फ गर्भधारण के पहले या दूसरे महीने तक ही ली जा सकती है। इसके बाद गर्भपात की गोली लेने से कई तरह की समस्याएं पैदा होती हैं और सही तरह से गर्भपात ना होने से महिला को पेट में दर्द होता है।


क्या करें क्या नहीं

अगर आप गर्भपात की गोली लेना चाहती हैं तो आप इसके लिए सबसे पहले डॉक्टर से परामर्श लें और उनकी सलाह पर ही दवाई का सेवन करें। गोली लेने के बाद आपको पेट में दर्द होगा ही, इसलिए पहले से ही डॉक्टर से पेनकिलर के बारे में पूछ लें।

 

आपका पेट का दर्द ना बढ़े या फिर यह समस्या लंबे समय तक ना बनी रहे, इसलिए आप गर्भपात के बाद पूरी तरह रिकवर होने पर फिजिकल रिलेशन ना बनाएं और ना ही जल्दी दोबारा दूसरे बच्चे के बारे में सोचें।

 

कुछ दिनों तक भारी शारीरिक श्रम करने से भी बचें। इससे आपको पेट या पीठ में दर्द की शिकायत फिर से शुरू हो सकती है।

 

पेट को आराम दिलाने के लिए आप हॉट पैड से पेट की सिकाई करें। इसके अलावा आप अदरक−तुलसी की चाय का सेवन भी कर सकती हैं।

 

अगर दर्द बहुत तेज हो और आपको बिल्कुल भी आराम ना मिले तो एक बार स्त्री रोग विशेषज्ञ को इस बारे में जरूर बताएं।

 

मिताली जैन

 

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts