जानिए कुछ ऐसी गलतियां जिनके कारण आपके बालों को पहुंचता है बहुत ही ज्यादा नुकसान


जानिए कुछ ऐसी गलतियां जिनके कारण आपके बालों को पहुंचता है बहुत ही ज्यादा नुकसान

महिलाओं की सुंदरता उनके बालों से ही होती है। जितने ज्यादा लंबे और घने बाल होते हैं, महिला की सुंदरता उतनी ही बढ़ जाती है। घने, चमकदार, रेशमी बालों की चाहत हर महिला को होती है। लेकिन जैसे-जैसे उनकी उम्र बढ़ती है तो अनेक कारणों से बालों का स्वास्थ्य प्रभावित होने लगता है।

 

इन सब का कारण बालों को दिया जाने वाला पोषण, हेयर स्टाइल का ढंग, साथ ही पॉल्यूशन, जेनेटिक्स और कई स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं। जो एलोपेसिया, ल्यूपस और कैंसर जैसी प्रमुख बीमारी का कारण है। कई बार रोज की दिनचर्या में जाने-अनजाने की कुछ गलत आदतें भी हमारे बालों के स्वास्थ्य पर नेगेटिव असर डालती है। इसलिए आज हम आपको बताएंगे आपकी कुछ ऐसी गलतियां जिसके करने से ही महिलाएं अपने बालों से हाथ धो बैठती हैं।


ज्यादा गर्म पानी से नहाना

 

बालों को बचाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है, उनको हर तरह की परेशानियों से बचाना। ज्यादा गर्म पानी से बालों को नहीं धोना चाहिए। बालों की जड़ों में मौजूद हेयर फॉलिकल्स से संबद्ध सेबेशियस ग्लैण्ड्स से प्राकृतिक तेल सेबम का स्राव होता है। इन सबकी वजह से ही बाल नर्म, हाइड्रेटेड एवं स्वस्थ रहते हैं।

 

गरम पानी बालों के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक है, क्योंकि गर्म पानी बालों से नमी चुरा लेता है। और गर्म पानी से बालों को सुरक्षित रखने वाला तेल धुल जाता है। पानी की गर्माहट से स्कैल्प के रन्ध्रों में तेल ज्यादा मात्रा में बनने लगता है जिससे बालों की जड़ों को काफ़ी नुकसान पहुँचता है, और बाल भी गिरने लगते हैं।


हेयर स्टाइल के गैजेट का प्रयोग

 

आज के समय में महिलाएं कुछ पल के लिए सुंदर दिखने के लिए बालों में ना जाने कितने तरह के केमिकल इस्तेमाल करती हैं। जिन से बालों को काफी नुकसान होता है। महिलाएं अलग-अलग तरीके से हेयर स्टाइलिंग करवाती हैं। और हेयर स्टाइलिंग करवाने के लिए हेयर ड्रायर एवं हेयर स्ट्रेटनर का इस्तेमाल बहुत ही ज्यादा किया जाता है। जिससे बालों को खासा नुकसान होता है। इन दोनों का ज्यादा इस्तेमाल बालों के लिए अत्यंत घातक होता है।

 

ज्यादा गर्मी से बाल अपने प्राकृतिक तेल एवं जरूरी सीरम को खोने लगते हैं। जिसके कारण बाल काफी रूखे और बेजान हो जाते हैं, और कमजोर होकर गिरने लगते हैं। हेयर ड्रायर एवं हेयर स्ट्रेटनर का उपयोग रोजाना बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। जब भी इन दोनों उपकरणों का इस्तेमाल करें तो सेटिंग हमेशा ठंडे पर रखें।


बालों पर केमिकल प्रोडक्ट का उपयोग

 

बालों में इस्तेमाल होने वाले प्रोडक्ट्स को बहुत ही सोच समझ कर इस्तेमाल करना चाहिए। बालों में इस्तेमाल करने वाले हेयर डाइ, बालों का कलर यहां तक कि शैंपू में भी अलग-अलग तरह के नुकसान देने वाले केमिकल होते हैं। इसलिए बालों में कोई भी प्रोडक्ट इस्तेमाल करने से पहले उसके बारे में अच्छी तरह से जान लेना चाहिए। क्योंकि हेयर डाइ में हाइड्रोजन पेरोक्साइड एवं अमोनिया नामक केमिकल होते हैं। जो कि बालों को कमजोर करते हैं। इसी वजह से बाल टूटने भी लगते हैं। इसलिए हमेशा प्राकृतिक हर्ब्स युक्त हर्बल शैंपू का उपयोग करना चाहिए।

 

बालों को कलर करने के लिए मेहंदी का ही इस्तेमाल करना चाहिए। हेयर डाइ लेते समय सेमी परमानेंट हेयर कलर ही लें और उसका ही बालों में इस्तेमाल करें। क्योंकि यह हेयर डाई हाइड्रोजन पेरोक्साइड एवं अमोनिया दोनों से रहित होते हैं।सेमी परमानेंट हेयर-डाई बालों पर 2 सप्ताह तक टिक सकते हैं।


बालों में कंघी करने का गलत तरीका

 

ज्यादातर महिलाएं गीले बालों में कंघी करती हैं या उँगलियों से उलझे हुए गीले बाल सुलझाती हैं। उन्हें इस बात का बिल्कुल भी अंदाज़ नही होता, कि ऐसा करने से उनके बालों को काफ़ी नुकसान पहुँचता है। इसकी वज़ह से बाल टूटने लगते हैं। क्योंकि बाल गीले होने पर बहुत ही ज्यादा नाजुक होते हैं।

 

ऐसी स्थिति में उन्हें ज्यादा नुकसान पहुँचता है। इसलिए बालों को धोने से पहले उन में कंघी कर लें। हमेशा बालों के लिए चौड़े दांतों वाले कंघे का ही इस्तेमाल करें। यदि आपको ब्रश का उपयोग करने की आदत है, तो ताजे धुले बालों के लिए वेट ब्रश का इस्तेमाल करें। 


बालों को बहुत अधिक धोना या कम धोना

 

बालों को कभी भी रोज़-रोज़ नही धोना चाहिए। बालों को रोज़ धोने से प्राकृतिक तेल धुल जाता है। बालों को कम धोने से स्कैल्प के रंध्र तेल की अधिकता से जाम होने लगते हैं और उनमें गंदगी जमा होने लगती है। इसलिए हफ्ते में दो बार सिर को धोना चाहिए।


पोषक तत्वों से रहित भोजन लेना

 

कई महिलाएं बालों को काफी टाइट बांधती है। हालांकि यह आदत बहुत ही ज्यादा खराब है। क्योंकि ऐसा करने से स्कैल्प पर खिंचाव पैदा होता है, और बालों की जड़ों को काफ़ी नुकसान पहुँचता है। बालों को पतले और टाइट हेयर बैन्ड्स से टाइट बांधना भी ठीक नहीं है। इसकी वज़ह से भी बाल टूटते हैं। टाइट पोनीटेल, चोटी, बन एवं नॉट जैसे स्कैल्प पर खिंचाव पैदा करने वाले हेयर स्टाइल अपनाने से बालों की ट्रेक्शन एलोपेसिया जैसी घातक बीमारी होती है और बाल झड़ने लगते हैं।

 

इसलिए स्कैल्प पर खिंचाव पैदा करने वाले हेयर स्टाइल को बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। बालों को बैक कॉम्बिंग कर बांधते समय उन्हें हमेशा ढीला रखें। साथ ही नायलॉन के हेयर बैन्ड्स का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें। हो सके तो फैब्रिक से कवर्ड और चौड़े हेयर बैन्ड्स का ही इस्तेमाल करें।



डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts