अनियमित जीवनशैली बन सकती है महिलाओं में PCOD का कारण


अनियमित जीवनशैली बन सकती है महिलाओं में PCOD का कारण

महिलाओं को अक्सर काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है उसमें से एक हैं पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS), जिसे पॉलिसिस्टिक ओवरी डिजीज (PCOD) भी कहा जाता है। ये बीमारी महिलाओं में आम होती है, आजकल लड़कियों  को भी इसका सामना करना पड़ रहा है। रिपोर्ट के अनुसार 6-10 प्रतिशत महिलाओं में ये बीमारी देखी जाती है।

पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम क्या है

महिलाओं को यह बीमारी हार्मोंस के संतुलन में गड़बड़ी व मेटाबॉलिज्म खराब होने पर होती है। हार्मोंस असंतुलित होने की वजह से पीरियड्स में दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं। पीरियड्स के बाद ओवरी में अंडाणुओं का निर्माण होता है और वे बाहर निकलते हैं। वहीं, पीसीओएस (PCOS) की स्थिति में ये अंडाणु न तो पूरी तरह से विकसित हो पाते हैं और न ही बाहर निकल पाते हैं।

पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के प्रकार- 

1 इंसुलिन प्रतिरोधी पीसीओएस- यह पीसीओ का सबसे आम प्रकार है। इस प्रकार का पीसीओएस धूम्रपान, चीनी, प्रदूषण और ट्रांस वसा के कारण होता है। इसमें इंसुलिन का उच्च स्तर ओव्यूलेशन को रोकता है और टेस्टोस्टेरोन बनाने के लिए अंडाशय को ट्रिगर करता है। अगर आपको आपके डॉक्टर ने बताया  गया है कि आप बॉर्डरलाइन पर डायबिटिक हैं और आपका ग्लूकोज सामान्य नहीं था तो आपको पीसीओएस की समस्या हो सकती है। 

2 रोग प्रतिरोधक संबंधित पीसीओएस- जब शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है, तो शरीर में ऑटोएंटीबॉडिस का निर्माण होने लगता है। यह शरीर में प्रोटीन को कम करने का काम करते है।  इस कारण से भी महिलाओं में पीसीओएस की समस्या हो सकती है।

पीसीओएस के कारण- 

हार्मोंस में असंतुलन- हार्मोंस में असंतुलन को इस बीमारी की मुख्य वजह माना गया है, लेकिन अगर आपको यह समस्या आ रही है, तो आप भी इसकी चपेट में आ सकती है लेकिन कुछ सावधानियों के चलते इन चीजों से बचा जा सकता है। 

खराब जीवनशैली- खराब जीवनशैली अक्सर हर बीमारी को जन्म देती है। महिलाओं के भोजन में पौष्टिक तत्वों की कमी, ज्यादा मात्रा में जंक फूड खाने, शारीरिक व्यायाम न करने और शराब व सिगरेट का सेवन करने से भी महिलाओं को यह बीमारी हो सकती है। 

टाइम पर पीरियड्स नहीं होना- टाइम पर पीरियड्स नहीं होने की वजह भी इस बीमारी को जन्म देती है। छोटी उम्र में ही अनियमित पीरियड्स आना इसका सबसे बड़ा संकेत होता है। 

अचानक वजन बढ़ना- इस दिक्कत से सबसे पहले महिलाओं का वजन बढ़ने लगता है जिसकी वजह से और भी बीमारी लग जाती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts