प्रेग्नेंसी में मार्निंग सिकनेस को यूं करें मिनटों में छूमंतर


प्रेग्नेंसी  में मार्निंग सिकनेस को यूं करें मिनटों में छूमंतर

गर्भावस्था किसी भी स्त्री के लिए बेहद नाजुक दौर होता है। इस दौरान महिला को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन्हीं में से एक मार्निंग सिकनेस। इस समस्या के चलते स्त्री को सुबह उठते ही उल्टी, जी मचलाना, सिरदर्द व चक्कर आने की शिकायत होती है। यह समस्या सुनने व देखने में भले ही आम लगे लेकिन इसके चलते महिला को काफी परेशानी होती है। तो चलिए आज हम आपको इस समस्या से निपटने के कुछ आसान उपाय बता रहे हैं−

लें छोटे−छोटे मील्स

गर्भवती स्त्री के लिए आहार बेहद अहम होता है। इसके जरिए ही स्त्री व उसके गर्भस्थ शिशु को पोषण मिलता है। लेकिन गर्भावस्था में आपको मार्निंग सिकनेस की समस्या न हो, इसके लिए आप छोटे−छोटे मील्स लें। गर्भावस्था में स्त्री को न तो भूखे पेट रहना चाहिए और न ही तीन बड़े मील्स लेने चाहिए, बल्कि उसे छोटे−छोटे पांच से छह मील में बांट लें। इससे भोजन के पाचन में आसानी होती है और मार्निंग सिकनेस की समस्या से भी राहत मिलती है।

अदरक का कमाल

सुबह उठते ही होने वाले सिरदर्द, घबराहट या जी मचलाने की समस्या से निजात पाने में अदरक बेहद काम आ सकती है। इसके लिए आप अदरक की चाय पीएं या फिर अदरक की चटनी बनाकर खाएं। आप चाहें तो डॉक्टर की सलाह पर बाजर में मिलने वाले अदरक के कैप्सूल भी ले सकती हैं।

बचें ट्रिगर से

मार्निंग सिकनेस के लिए कई चीजें बतौर ट्रिगर काम करती हैं। मसलन, गर्भावस्था में बहुत अधिक ऑयली, हैवी या बाहर का खाना मार्निंग सिकनेस का कारण बन सकता है। इसके अतिरिक्त कुछ चीजों की महक भी महिला को परेशान कर सकती हैं। जैसे सिगरेट या परफयूम की महक। इसलिए जहां तक हो सके, इनसे दूरी ही बनाए रखें।

यह भी आएंगे काम

मार्निंग सिकनेस से निजात पाने के लिए आप कुछ अन्य टिप्स भी अपना सकती हैं। जैसे सुबह उठने के बाद आप ठंडा पानी पीएं या फिर पानी में नींबू डालकर भी सेवन किया जा सकता है। इसके बाद अगर चाहें तो थोड़ा आराम कर लें। नहीं तो, आप थोड़ा टहलें व हल्का व्यायाम करें। सुबह की ताजा हवा आपके और गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य के लिए बेहद अच्छी है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts