सर्दियों में ये 5 आसान घरेलू नुस्खे अपनाकर गले की खराश को कहें बाय-बाय


सर्दियों में ये 5 आसान घरेलू नुस्खे अपनाकर गले की खराश को कहें बाय-बाय

सर्दियों के मौसम में खांसी-जुखाम के अलावा गले की खराश भी एक आम समस्या है जो बहुत परेशान कर देती है। अगर ठण्ड लग जाए और लगातार खांसी आने लगे तो गले में दर्द और हल्‍की सूजन से हम परेशान हो जाते हैं। सर्दियों में होने वाली गले में खराश के कई कारण हो सकते हैं जैसे ठंड लगना या कुछ ठंडा खा लेना। ऐसे में लोग आमतौर पर सिरप या गोलियों का सहारा लेते हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे अचूक घरेलू नुस्खे बताएंगे जो आपकी गले की खराश को मिनटों में दूर कर देंगे -  


नमक का पानी

अगर आप गले की खराश से परेशान हैं तो नमक के पानी से गरारे करने से आपको जल्द राहत मिलेगी। नमक वाले पानी से गरारे करने से गले में जमे म्यूकस को बाहर निकालने में मदद मिलती है। इससे गले की खराश के साथ-साथ गले के दर्द में भी आराम मिलता है। अगर आप भी गले की खराश से परेशान जाओ तो एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक मिलाकर गरारे जरूर करें।


शहद और नींबू 

गले की खराश को दूर करने के लिए शहद भी बहुत फायदेमंद है। शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो बैक्टीरिया को खत्म करके, गले की खराश से राहत दिलाते हैं। इसके साथ ही यह गले के अंदर की सूजन को कम करके जल्द राहत पहुंचाता है। गले की खराश को दूर करने के लिए गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर पिएँ। ऐसा करने से  आपको गले की खराश से जल्द आराम मिलेगा। नींबू में विटामिन सी मौजूद होता है जो इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है।


अदरक

सर्दी-खांसी में अदरक का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसमें एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो गले में खराश पैदा करने वाले पैथोजेन को रोकने में मदद कर सकते हैं। गले की खराश को दूर करने के लिए आप अदरक का टुकड़ा चबा सकते हैं या फिर गरम अदरक की चाय भी पी सकते हैं। 


तुलसी के पत्ते 

सर्दी-खासी के इलाज के लिए तुलसी का इस्तेमाल प्राचीन समय से हो रहा है। गले की खराश को दूर करने के लिए उबले हुए पानी में कुछ तुलसी के पत्ते मिलाकर स्टीम लें। आप चाहें तो पानी में तुलसी और अदरक उबालकर, इसका काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं। 


हल्दी वाला दूध 

सर्दियों में हल्दी वाला दूध पीने की सलाह आपको बहुत लोगों ने दी होगी। गले की खराश दूर करने के लिए भी हल्दी वाला दूध फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद  एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण गले में सूजन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए रात में सोते समय एक गिलास गर्म दूध में हल्दी मिला कर पिएँ।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts