प्री डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए अपनाएं यह आयुर्वेदिक उपाय, नहीं लेनी पड़ेगी शुगर की दवाई


प्री डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए अपनाएं यह आयुर्वेदिक उपाय, नहीं लेनी पड़ेगी शुगर की दवाई

आज के समय में प्री डायबिटीज की समस्या आम हो गयी है। आजकल बुजुर्ग ही नहीं, युवा वर्ग भी लोग भी इस समस्या से पीड़ित हैं। प्री डायबिटीज मेटाबॉलिक सिंड्रोम का हिस्सा है जिसमें ब्लड शुगर लेवल असामान्य या सामान्य से ज्यादा होता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक प्री डायबिटीज मोटापा से जुड़ा होता है। विशेष रूप से यदि व्यक्ति को पेट या आंत का मोटापा और हाइपरटेंशन की समस्या हो तो उसे प्री डायबिटिक माना जाता है। प्रीडायबिटीज के मरीजों में हाई कोलेस्ट्रोल रहता है जिसकी वजह से हृदय संबंधी बीमारियां बढ़ जाती है। ऐसे लोगों को भविष्य में डायबिटीज होने का खतरा अधिक रहता है। आज के इस लेख में हम आपको प्री डायबिटीज के लक्षण और इसे कम करने के उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं - 


प्री डायबिटीज के लक्षण 

ज्यादा प्यास लगना

रात में ज्यादा पेशाब आना

घावों को ठीक होने में असमान्य रूप से ज्यादा समय लगना 

थकान 


प्री डायबिटीज होने पर करें ये घरेलू उपाय 

अपनी डाइट पर खास ध्यान दें

अगर आपको प्री डायबिटीज के लक्षण दिखाई दें तो अपने खानपान का खास ख्याल रखें। अपनी डाइट से जंक फूड, फ्राइड फूड, रिफाइंड शुगर, सॉफ्ट ड्रिंक, दूध और फर्मेंटेड चीजों को हटा दें। प्री डायबिटीज होने पर डाइट में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फलों और सब्जियों को शामिल करें। इसके साथ ही दाल और लो फैट वाली चीजें खाएं। 


एक्सरसाइज करें

स्वस्थ रहने के लिए एक्सरसाइज करना बहुत जरुरी है। प्री डायबिटीज या डायबिटीज के मरीजों को नियमित रूप से एक्सेर्सिस करनी चाहिए। इससे वजन कम करने में मदद मिलती है और ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहता है। स्वस्थ रहने के लिए अपनी दिनचर्या में योगा और एक्सरसाइज जरूर शामिल करें। 


हल्दी और आंवला 

प्री-डायबिटीज में हल्दी और आंवले का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए आँवले के रस में हल्दी पाउडर मिलाकर सेवन करें। इस मिश्रण का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है और इंसुलिन रेजिस्टेंस को रोकने में मदद मिलती है। यह मिश्रण मोतियाबिंद और इम्यून सिस्टम से जुड़ी समस्याओं में भी एक कारगर घरेलू नुस्खा है। 


मेथी

अगर आप में प्री-डायबिटीज के लक्षण हैं तो मेथी के बीज का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। मेथी के बीज में सॉल्युबल फाइबर मौजूद होता है जो इंसुलिन रेजिस्टेंस को रोकने में मदद करता है। इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है और वजन घटाने में भी मदद मिलती है।


दालचीनी

दालचीनी एक अद्भुत मसाला है जिसमें कई आयुर्वेदिक गुण होते हैं। प्री डायबिटीज की समस्या में दालचीनी का सेवन भी बहुत फायदेमंद माना जाता है। ये ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है और इंसुलिन रेजिस्टेंस को रोकने में मदद करता है। इसके लिए दालचीनी के पाउडर को गुनगुने पानी के साथ लें। इसके नियमित सेवन से प्री डायबीटीज के साथ-साथ वजन कम करने में भी मदद मिलेगी।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts