बहुत गुणकारी है मसाले, कई बीमारियों से बचा सकता है इनका सेवन


बहुत गुणकारी है मसाले, कई बीमारियों से बचा सकता है इनका सेवन

मसालों का उपयोग सदियों से भोजन में होता रहा है कभी व्यंजन का स्वाद बढ़ाने के लिए या कभी सुगंध के लिए। मसाले रसोई घर की शान हैं। मसालों में बहुत से स्वास्थ्य के लिए लाभदायक तत्व पाए जाते हैं। जिनमें प्रोटीन, सोडियम, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए, विटामिन बी 6, कार्बोहाइड्रेट पाए जाते हैं। किसी भी सामान्य बीमारी में मसालों का प्रयोग आम बात है। जैसे दूध हल्दी का सेवन, चोट लगने पर हल्दी का लेप करना या पेट की समस्या में अजवाइन का प्रयोग। मसाले जीवन के हर हिस्से में शामिल हैं।


हल्दी

मेडिकल रिसर्च में भी यह बताया गया है यह सुपरफूड है। इसमें क्योरक्यूमिन नामक तत्व पाया जाता है जो कैंसर की कोशिकाओं की वृद्धि को रोकने में सहायक है। यह दर्द को कम करने में मदगार है। हल्दी में चोट को जल्दी भरने वाले तत्व पाए जाते हैं। क्योरक्यूमिन तत्व घुलनशील नहीं होता है इसलिए इसका पूरा लाभ नहीं मिल पाता है। हल्दी का नियमित सेवन आपको इसके सेवन का पूरा लाभ दे सकता है।


लाल मिर्च

लाल मिर्च का प्रयोग भोजन की रंगत और तीखापन बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं इसके नियमित प्रयोग से आपका डाइजेस्टिव सिस्टम स्ट्रांग होता है। रोज लाल मिर्च खाने वाले लोगो का कोलेस्ट्रॉल बैलेंस रहता है और यह मेटाबॉलिक सिस्टम को एक्टिव बनाने में हेल्प करता है। यह दिल की बीमारियों की आशंका को भी कम करने में सहायक है। लाल मिर्च के सेवन से हृदय रोग और कैंसर जैसी बीमारियां होने की आशंका कम हो जाती है। लाल मिर्च खाने वालों की उम्र भी ज्यादा होती है। लाल मिर्च में कैपसाइसिन तत्व पाया जाता है रिसर्च में यह बताया गया है कैपसाइसिन इंसान की लम्बी उम्र सहायक है।  


दालचीनी

दालचीनी स्वाद में हल्की मिठास लिए हुए होती है और इसकी तासीर गर्म होती है। दालचीनी का इस्तेमाल ज्यादातर सब्जियों में किया जाता है लेकिन जुकाम होने पर आप इसकी चाय भी आज़मा सकते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है और अगर आप डाइबिटिक है तो यह आपके शुगर लेवल को भी बैलेंस रखता है। अल्जाइमर से परेशान लोगों के लिए दालचीनी फायदेमंद है।

 

काली मिर्च

काली मिर्च बैक्टीरियल इंफेक्शन नहीं होने देता। इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो आपको सामान्य बीमारियों जैसे जुकाम खांसी और इंफेक्शन से बचाने में हेल्प करते है। काली मिर्च में गुड बैक्टीरिया पाए जाते है जो आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को हेल्दी रखते है और किसी तरह के इंफेक्शन से भी आंतो की सुरक्षा करते हैं। काली मिर्च एक तरह का इम्युनिटी बूस्टर  है।


जीरा

किसी को एनीमिया है तो उसके लिए जीरा फायदेमंद है यह आयरन से भरपूर होता है। इसमें मैग्नीशियम पाया जाता है जो आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। जीरा अच्छे डाइजेशन के लिए भी जाना जाता है और यह हड्डियों के लिए लाभकारी है।  


हींग

हींग मसाले को जितना मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है उतना ही घरेलू औषधि के रूप में भी इसका उपयोग होता है। हींग को ज्यादातर तड़के में इस्तेमाल किया जाता है। यह एंटीवायरल तत्वों से भरपूर होता है जो फ्लू और जुकाम के संक्रमण को रोकने मदद करते हैं। इसमें एंटी वॉयरल,एंटी बायोटिक गुण होते हैं जो आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करते हैं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts