छाती के दर्द को न लें हल्के में ये हो सकता है जानलेवा


छाती के दर्द को न लें हल्के में ये हो सकता है जानलेवा

आज के समय में लोग जिस तरह का लाइफस्टाइल जी रहे हैं, उसके कारण उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हद्य समस्याएं भी इनसे अछूती नहीं है। कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति को बहुत तेज सीने में दर्द होता है और वह इसे हार्ट अटैक समझकर परेशान हो जाता है। यह सच है कि हार्ट अटैक होने पर सीने में दर्द होता है, लेकिन हर बार सीने में दर्द का कारण हार्ट अटैक ही हो, ऐसा जरूरी नहीं है। आज हम आपको छाती में होने वाले दर्द के कारणों और उसके उपाय के बारे में बता रहे हैं−

पेट में परेशानी

पेट में परेशानी, अपच व गैस के कारण छाती में दर्द होना सामान्य है। दरअसल, जब आप अपने खाने का ख्याल नहीं रखते तो इससे पेट में एसिडिटी होती है और पित्त की थैली में बनी यह गैस छाती की तरफ जाती है और व्यक्ति को सीने में दर्द होता है।

फेफड़ों की समस्या

कुछ लोगों को खांसने, छींकने या सांस लेने पर सीने में दर्द की शिकायत होती है। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो संभव है कि आपके फेफड़ों में परेशानी हो। वैसे टीबी की समस्या होने पर भी छाती में दर्द हो सकता है।

हो सकती है सूजन

आपको शायद पता न हो लेकिन कभी−कभी सीने की भीतरी दीवारों पर सूजन हो जाती है। यह सूजन इतनी गंभीर होती है कि व्यक्ति को सांस लेने पर भी छाती में तेज दर्द होता है।

हार्ट अटैक

छाती में दर्द का एक मुख्य कारण हार्ट अटैक भी है। अगर आपके सीने में बाईं तरफ दर्द हो रहा है तो यह हार्ट अटैक की वजह से हो सकता है।

अन्य कारण

छाती में दर्द के अन्य कई कारण हो सकते हैं, जैसे पसली के टूटने, मांसपेशियों में दर्द या फिर फ्रैक्चर के कारण नसों पर दबाव पड़ता है और व्यक्ति को छाती में दर्द शुरू हो जाता है।

करें यें उपाय

छाती में दर्द होने पर यह आवश्यक है कि आप एक बार डॉक्टर को अवश्य दिखाएं। वैसे अगर छाती में दर्द सामान्य कारणों से हैं तो आप कुछ घरेलू उपायों के जरिए भी अपनी समस्या से निजात पा सकते हैं−

अगर आपको छाती में दर्द हो रहा है तो आप एक गिलास पानी में एक चम्मच सिरका मिलाकर उसका सेवन करें। आपको काफी राहत महसूस होगी।

लहसुन का सेवन हृदय के लिए काफी अच्छा माना गया है। इसके सेवन के लिए एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच लहसुन का रस डालकर पिएं। आप रोज सुबह लहसुन के दो टुकड़े चबा भी सकते हैं।

वहीं एलोवेरा जूस का सेवन करने से हृदय संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। यह कार्डियोवस्कुलर सिस्टम को मजबूत करने, गुड कोलेस्ट्रॉल को नियमित करने, ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने और रक्तचाप को कम करने में भी मदद करता है। बस आप दिन में एक या दो बार एलोवेरा जूस का सेवन करें। 

अगर अपच या ब्लोटिंग के कारण छाती में दर्द हो रहा हो तो गर्म पेय पदार्थ पीने से आपको राहत मिलेगी। आप एक कप गर्म हर्बल टी या कुछ भी गर्म पी सकते हैं। गर्म पेय ब्लोटिंग व अपच को कम कर हृदय को स्वस्थ रखता है।

मिताली जैन

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts