जानिए याददाश्त बढ़ाने के कुछ आसान घरेलू नुस्खे


जानिए याददाश्त बढ़ाने के कुछ  आसान घरेलू नुस्खे

ज्यादातर लोगों की याददाश्त उम्र पर निर्भर होती है, जैसे जैसे उम्र बढ़ती है वैसे ही याद रखने की क्षमता कमजोर होती जाती है, याददाश्त कमजोर होने के कारण व्यक्ति को याद नहीं रहता कि उसने क्या काम किया था और वह क्या करने जा रहा है कई बार तो याददाश्त की वजह से ही उन्हें बड़ा खामियाजाना भी भुगतना पड़ता है। यदि कोई व्यक्ति बिजनेसमैन या सरकारी नौकर करने वाला हो और वह अपनी याददाश्त के कारण अपने सारे काम या इंपॉर्टेंट डॉक्यूमेंट भूल जाए तो उसके कारण उस को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 


यह परेशानी यदि महिलाओं में हो तो उन्हें अपने घर परिवार चलाने में भी काफी ज्यादा दिक्कतें आती हैं लेकिन अब यह याददाश्त की परेशानी सिर्फ महिलाओं, पुरुषों में नहीं बल्कि हर वर्ग के व्यक्ति में होती है। यहां तक कि आजकल के बच्चे और नवयुवक भी चीजों को भूल जाते हैं, उन्हें भी याद नहीं रहता कि वह क्या काम करने वाले थे और क्या उन्होंने किया था साथ ही कम याददाश्त के कारण उनकी शिक्षा पर भी काफी बुरा प्रभाव पड़ता है इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताएं जिससे आपकी याददाश्त बढ़ेगी और आप ऐसी परेशानियों से निजात पा सकेंगे।


भरपूर नींद लें

याददाश्त कमजोर होना या कोई भी चीज याद ना रहना बहुत ही बड़ी समस्या बनकर सामने आती है, कई विशेषज्ञों का मानना है कि अगर आप सही तरह से पूरी नींद नहीं लेते तो पूरे दिन आपका दिमाग शरीर बेचैन रहता है। जिसके कारण आप एक जगह अपने दिमाग को नहीं लगा सकते ऐसे में आप अपने काम पर सही तरह से ध्यान नहीं दे पाएंगे, इसीलिए याददाश्त को ठीक करने के लिए सही समय पर सोना और सही समय पर उठना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है। यदि आप अपनी याद रखने की क्षमता को और मजबूत बनाना चाहते हैं या उसे कमजोर होने से बचना चाहते हैं तो सही तरह से पूरी नींद लें साथ ही सोने के आधे घंटे पहले एक कप गर्म दूध जरूर पीएं। यह उपाय वास्तव में आपकी याददाश्त की क्षमता को बढ़ाने में बहुत ही ज्यादा मददगार साबित होगा।


व्यायाम, कसरत करें

यदि किसी भी व्यक्ति की याददाश्त कमजोर हो जाती है तो उसके कारण उसे कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है साथ ही उसकी दैनिक जीवन में भी बहुत ही ज्यादा समस्याएं आने लगती है इसीलिए याददाश्त को ठीक रखने के लिए साथ ही उस पर अच्छा प्रभाव डालने के लिए आपको प्रतिदिन व्यायाम एक्सरसाइज करनी चाहिए। व्यायाम आपके दिल की दर को बढ़ाता है और आपकी मेमोरी को तेज रखता है, इसीलिए प्रतिदिन प्रातः सूर्य निकलने से पहले आपको व्यायाम कम से कम 30 में तक जरूर करना चाहिए। इसी तरह यदि आपको शाम को समय मिलता है तो उस समय भी व्यायाम आपको अवश्य करना चाहिए। यदि आपको व्यायाम करने का समय नहीं मिल पाता है तो रोज 10 मिनट पैदल जरूर चलें। इससे आपकी याददाश्त पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ेगा साथ ही ऐसा करने से आप हेल्दी रहेंगे और आपकी याददाश्त भी ताजा रहेगी।


सेब का सेवन करें

हम बचपन से ही यह कहावत सुनते आए हैं कि 'ईट एप्पल ए डे कीप्स डॉक्टर अवे', मतलब एक सेब आप दिन में खाइए और बीमारियों से मुक्त रहिए। सेब के अंदर विटामिन सी और फाइबर होता है जिसकी वजह से हमारा शरीर बहुत ही ज्यादा फिट और तंदुरुस्त रहता है सेब हमारे शरीर को कई तरह की बीमारियों से भी बचाता है। इसके अंदर पेक्टिन फाइबर होता है जो पाचन में प्रोटीन को बढ़ाता है, अगर आप अपनी याददाश्त तेज और बढ़ाना चाहते है तो रोज एक सेब का सेवन जरुर करें। ऐसा करने से आपकी याददाश्त की क्षमता में बढ़ोतरी होगी सोचने साथ ही आपका स्वास्थ्य बहुत ही अच्छा रहेगा।


दही का सेवन करें

दही हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है हमें प्रतिदिन अपने भोजन में दही को शामिल जरूर करना चाहिए। इसके अंदर अमीनो एसिड पाया जाता है, जिससे तनाव और स्ट्रेस जैसी बीमारियां काफी दूर रहती है इसके लगातार सेवन से बीमारी शरीर में पनप ही नहीं पाती। अगर आपकी याददाश्त कमजोर हो गई है और आपको प्रतिदिन याददाश्त की वजह से किसी ना किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है तो आप दही का सेवन अवश्य करें। इसके लगातार सेवन से आपको कुछ ही दिनों में इसका प्रभाव नजर आने लगेगा आपकी याददाश्त में बढ़ोतरी होने लगेगी।


बादाम का सेवन करें

बादाम का मूल्य काम हमारे शरीर में दिमाग को तेज करना साथी याददाश्त बढ़ाना होता है बादाम हमारे मस्तिष्क और स्म्रति की शक्ति को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए एक बेहतर आयुर्वेदिक उपाय है यह हमारी आखों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है साथ ही इसका याददाश्त बढ़ाने में भी इसका बहुत बड़ा रोल होता है याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम सबसे ज्यादा फायदेमंद है। रोज रात को 5 से 10 बादाम पानी में भिगोएँ, सुबह छिलका उतारकर पिस लें, अब इस पेस्ट को एक गिलास दूध के साथ उबाल लें, उसके बाद स्वादनुसार शहद या चीनी मिलाएं और नियमित 30 से 40 दिन इसका सेवन करें। निश्चित रूप से आपकी याददाश्त की बीमारी में बहुत ही बड़ा सुधार होगा।


विटामिन से भरपूर आहार का सेवन करें

याददाश्त बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है कि आप विटामिन फाइबर से भरपूर भोजन का सेवन करें आप ऐसे आहार का सेवन करें जिससे आपके शरीर में हर तरह की पूर्ति बनी रहे, क्योंकि विटामिन हमारे शरीर के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण तत्व है अगर आपके शरीर में विटामिन की कमी हो जाती है तो आपकी याददाश्त कमजोर हो सकती है, इसलिए इसकी कमी ना आने दें, विटामिन से भरपूर आहार का सेवन करें।


रोजमेरी का सेवन करें

रोजमेरी इसे केशवास और गुलमेंहदी के नाम से भी जाना जाता है। यह एक औषधि की तरह होती है भारत में इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है ज्यादातर लोग खाने की महक बनाने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। इसमें कई तत्व ऐसे भी हैं जिनसे कैंसर से बचा जा सकता है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी होती है। रोजमेरी में कारनोसिक तत्व होता है, जो मस्तिष्क की काम करने की क्षमता और स्वस्थ रखने में मदद करता है साथ ही इसमें कई और ऐसे तत्व भी पाए जाते हैं, जिनसे आपकी याददाश्त तेज हो सकती है। इसीलिए याददाश्त जैसी बीमारी के लिए आप रोजमेरी इस्तेमाल कर सकते हैं।


डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts