घरेलू उपायों को अपनाकर दूर करें साइनस की समस्या


घरेलू उपायों को अपनाकर दूर करें साइनस की समस्या

साइनस को साइनोसाइटिस भी कहा जाता है, यह नाक संबंधी रोग है, जिसके कारण ना सिर्फ व्यक्ति को सांस लेने में परेशानी होती है, बल्कि चेहरे की मांसपेशियों में भी दर्द शुरू हो जाता है। साइनस के कई कारण हो सकते हैं, जैसे बैक्टीरिया, फंगल, एलर्जी, नाक की हड्डी बढ़ना, अस्थमा, वायरल व भोजन। अमूमन लोग साइनस की समस्या होने पर दवाइयों का सहारा लेते हैं, लेकिन आप कुछ घरेलू उपचारों की मदद से भी अपनी इस समस्या से राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं साइनस के कुछ घरेलू उपचारों के बारे में−


नाक का स्प्रे

नाक का स्प्रे साइनस के इलाज के लिए बेहद प्रभावी होता है। इसके लिए आप पानी में थोड़ा नमक और बेकिंग पाउडर मिलाएं। आप इसे सूंघे या इसे एक स्प्रे बोतल में भरकर नाक में डालें। आप इस नाक के स्प्रे का इस्तेमाल दिन में दो से तीन बार कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: प्राकृतिक एंटीबायोटिक्स से होते हैं कई रोग दूर, आजमाकर जरूर देखें

स्टीम

साइनस के दर्द के इलाज का सबसे आसान व प्रभावी घरेलू उपाय है स्टीम। स्टीम नाक के मार्ग को खोलने में मदद करती है। साथ ही इससे साइनस प्रेशर भी कम होता है। स्टीम लेने के लिए पहले आप एक बर्तन में पानी डालकर उसे उबालें और अब उस बर्तन के उपर अपना मुंह रखें। हालांकि पानी से थोड़ी दूरी बनाए रखें ताकि आप जल न जाएं। इसके बाद आप अपने सिर के उपर तौलिया रखें। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि भाप आपके नाक के रास्ते भीतर जाए।

 

तरल पदार्थ का सेवन

अगर आप साइनस के दर्द से पीडि़त हैं और खुद को जल्द से जल्द ठीक होना चाहते हैं तो आप खुद को हाइडेटेड रखें। आप गुनगुने पानी का सेवन करें या फिर कॉफी या फलों के रस का सेवन करें।

इसे भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को इन चीजों का करना चाहिए परहेज

करें आराम

आपको शायद पता न हो लेकिन साइनस के पेन से राहत पाने के लिए पर्याप्त आराम करना भी बेहद जरूरी है। अच्छी नींद लेने से भी आप जल्दी ठीक हो सकते हैं।


वार्म कंप्रेस

वार्म कंप्रेस साइनस के दर्द व प्रेशर से राहत पाने का एक प्रभावी उपाय है। इसके लिए आप एक तौलिए को गर्म पानी में डिप करें। अब इसे हल्का सा निचोड़कर अपने नाक व चीक्स के उपर रखें। इससे आपको काफी राहत महसूस होगी।

 

मिताली जैन

 

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts