इन अचूक उपायों से रोग प्रतिरोधक क्षमता होगी मजबूत और बीमारियाँ रहेंगी कोसों दूर


इन अचूक उपायों से रोग प्रतिरोधक क्षमता होगी मजबूत और बीमारियाँ रहेंगी कोसों दूर

मानव जीवन पाने के लिए कई लाख योनियों का लंबा इंतजार करना पड़ता है, ऐसा शास्त्रों में उल्लेख भी है। तुलसीदास जी ने अपनी चौपाई में कहा है 'बड़े भाग मानुष तन पावा'। इस जन्म में जो मानव शरीर हमें मिला है, उसकी तंदुरुस्ती का ख्याल रखना हमारा परम कर्तव्य होना चाहिए। हम उस युग में जी रहे हैं, जहां तकनीक के अनेकोंनेक विस्तार हो चुके हैं। ऐसे में खानपान की विधियां पुरातन काल के मुकाबले बहुत ज्यादा बदल चुकी हैं। जब इतना बदलाव हो चुका है, तो हमारे सामने यह चुनौतियां हैं कि बिगड़े खानपान को सुधारते हुए दुनिया भर में फैली बीमारियों से मुकाबला करने योग्य शरीर को तैयार करना होगा।


सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करें 


रात के भोजन के पश्चात जल्दी सोने की कोशिश के साथ सुबह जल्दी उठना चाहिए। सुबह की ताजी हवा शरीर को रोगों से लड़ने के लिए तंदुरुस्त बनाती है। सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करने से शरीर सुदृढ़ और मजबूत बनता है। 


प्रोटीनयुक्त चीजों को नाश्ते में शामिल करें


सुबह जल्दी उठकर प्रोटीन युक्त नाश्ते में दलिया, उबले अंडे, भीगे चने, उड़द की गीली दाल, मूंगफली, सेब, काजू-बादाम, जैसे पोषक तत्वों का सेवन करें। कहते हैं शुरुआत अच्छी हो तो दिन अच्छा जाता है और अगर आप इस तरह के प्रोटीन युक्त नाश्ते का सेवन सुबह-सुबह करते हैं, तो आप कुछ ही दिनों में रोगों से लड़ने की वह क्षमता प्राप्त कर लेंगे, जो आपके शरीर के लिए आवश्यक है।


दोपहर के लंच में सलाद का अधिक से अधिक इस्तेमाल करें


आप यदि वर्किंग पर्सनालिटी हैं या घर में रहते हैं, तो  दोपहर के लंच में अपने घर से जो कुछ भी ऑफिस साथ ले जाते हैं, उसमें सलाद को जरूर शामिल करें। नित प्रतिदिन अगर आप भोजन में सलाद का प्रयोग करते हैं, तो आपका मोटापा सीमित रहता है। वहीं शारीरिक मजबूती बढ़ती है।


शाम का भोजन रखें सीमित


वैसे तो यह कहा जाता है कि रात में भोजन नहीं करना चाहिए। जो कुछ खाना चाहते हैं वह सूरज ढलने से पहले खा सकते हैं। इसका पालन करने वाले बहुत कम लोग ही हैं। यदि आप भी देर रात भोजन करने के आदी हैं, तो यह आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता की मजबूती के लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है। करीब रात आठ से नौ के बीच सादा और सीमित भोजन किया जा सकता है।


धूम्रपान व शराब के सेवन से बचें


इस बिजी लाइफ में लोग तनाव को दूर करने के लिए कहीं ना कहीं शराब और सिगरेट को आजमाते हैं। अपनी दिनचर्या में लोग ऐसा मानते हैं कि सिगरेट पीने से दिमाग फ्रेश हो जाता है। हालांकि यह बात सौ फ़ीसदी गलत है। ऐसी आदतों का शरीर पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है। सिगरेट और शराब के अत्यधिक प्रयोग से शरीर की इम्युनिटी बेहद ही कम हो जाती है। जब भी आप बीमार होते हैं तो उस बीमारी से उबरने के लिए आप का शरीर काफी लंबा वक्त ले लेता है।


शरीर को आराम दें, भरपूर नींद लेने में कसर न छोड़ें


आज की भागदौड़ भरी इस दुनिया में लोगों को अपने शरीर को आराम देने का वक्त भी नहीं रह गया है। जहां एक ओर दुनिया में कामकाज करने के तरीके में बदलाव आ रहा है, वहीं शरीर अचल होता जा रहा है।लोग देर रात तक जागकर अधिक वक्त तक काम में व्यस्त रहते हैं। इतने अधिक मानसिक और शारीरिक तनाव से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत ही नाजुक स्तर में पहुंच जाती है। कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद शरीर के लिए बहुत आवश्यक होती है।


आज के मानव का जीवन स्तर काफी नीचे आ चुका है। लोग कई तरह के ऐब पालते हैं। जिसकी वजह से भिन्न प्रकार के रोगों से ग्रसित होकर अल्पकाल में ही उनकी मौत हो जाती है। यह सब केवल गलत खानपान और शरीर के साथ खिलवाड़ करने की वजह से होता है। यदि आपको लंबा जीवन जीना है तो उपर्युक्त चीजों को ध्यान से पढें। स्वस्थ रहें, मस्त रहें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts