अब आसानी से घर पर ही ऐसे करें ब्लड प्रेशर को मैनेज


अब आसानी से घर पर ही ऐसे करें ब्लड प्रेशर को मैनेज

ब्लड प्रेशर की समस्या आज के समय में बेहद आम हो गई है। सिर्फ बढ़ती उम्र में ही नहीं, बल्कि युवा वर्ग भी गलत लाइफस्टाइल के कारण हाई बीपी या लो बीपी की समस्या का सामना कर रहा है। अमूमन ब्लड प्रेशर को मैनेज करने के लिए लोग दवाइयों का सहारा लेते हैं, लेकिन अगर आप चाहें तो कुछ घरेलू उपायों की मदद से भी रक्तचाप को सामान्य रख सकते हैं। तो चलिए जानते हैं हाई बीपी या लो बीपी होने पर क्या करें−

हाई बीपी का घरेलू उपचार

हाई बीपी या हाइपरटेंशन से पीडि़त व्यक्ति के लिए अदरक का सेवन लाभकारी है। इसके सेवन के लिए आप एक इंच अदरक के टुकड़े को एक कप पानी में उबालें। अब करीबन पांच मिनट के लिए गैस को धीमा करें और उसके बाद पानी को छानकर हल्का ठंडा होने दें और फिर उसका सेवन करें। 

एक गिलास गर्म पानी में तीन चम्मच सेब का सिरका मिलाकर उसका सेवन करें। आप इस मिश्रण को दिन में एक बाद पी सकते हैं।

एक गिलास गर्म पानी में आधा नींबू निचोड़कर उसका सेवन करें। अगर आप नींबू पानी के साथ−साथ थोड़ी एक्सरसाइज भी करते हैं तो इससे आपको जल्द और इफेक्टिव रिजल्ट मिलेगा।

हाई बीपी से पीडि़त व्यक्ति को दालचीनी को अपनी डाइट का हिस्सा बनाना चाहिए। आप दालचीनी पाउडर को अपने खाने में शामिल कर सकते हैं।

दिन में एक कप कॉफी या ग्रीन टी भी रक्तचाप को नियमित करने में मददगार है।

लो बीपी का घरेलू उपचार

निम्न रक्तचाप से पीडि़त लोगों को नमक का अधिक सेवन करना चाहिए।

इसके अलावा लो बीपी से पीडि़त व्यक्ति को अपने वाटर इनटेक पर भी ध्यान देना चाहिए। यह शरीर को निर्जलीकरण से बचाने के साथ−साथ उसकी कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने के लिए जरूरी है।

निम्न रक्तचाप से पीडि़त व्यक्ति के लिए चुकंदर का रस लाभदायक है। ऐसे लोगों को दिन में दो बार चुकंदर के रस का सेवन करना चाहिए।

ऐसे लोग दिन में एक कप ब्लैक स्टांग कॉफी भी पी सकते हैं।

वहीं आप चाहें तो गुनगुने दूध में बादाम को पीसकर डालें और उसका सेवन करें। इससे भी आपको लाभ होगा।

इसके अतिरिक्त शरीर में रक्त प्रवाह को बेहतर बनाने के लिए जरूरी है कि आप थोड़ी एक्सरसाइज अवश्य करें। 

मिताली जैन

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts