कान के दर्द को मिनटों में दूर करेंगे ये आसान घरेलू नुस्खे


कान के दर्द को मिनटों में दूर करेंगे ये आसान घरेलू नुस्खे

कान में दर्द बहुत तकलीफदेह होता है। कान में दर्द कई कारणों से हो सकता है। किसी इन्फेक्शन, बदलते मौसम या कान में मैल जमने की वजह से कान में दर्द हो सकता है। कभी-कभी कान में पानी चले जाने के कारण भी कान में दर्द होने लगता है। कान में दर्द होने पर अक्सर लोग दवाइयों और इयर ड्रॉप्स का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, कान दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। लेकिन इन घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल तभी करें अगर आपके कान दर्द का स्तर सामान्य है। अगर आपके कान में बहुत ज्यादा दर्द है तो डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। आज हम आपको कान दर्द से निजात पाने के कुछ घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं -


लहसुन 

कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप लहसुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल, लहसुन में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं जो संक्रमण को दूर करने में मदद कर सकते हैं। इसके लिए कच्चे लहसुन की 5-6 कलियों को सरसों के तेल में डालकर गर्म कर लें। जब लहसुन पूरी तरह जल जाए तो गैस बंद कर दें और इसे छान लें। तेल ठंडा होने के बाद एक से दो बूंद कान में डालें।


टी ट्री ऑयल 

यदि संक्रमण या किसी अन्य कारण से कान में दर्द है तो आप टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए चार से पांच बूंद तिल के तेल में दो से चार बूंद टी ट्री ऑयल की मिलाकर गर्म कर लें। जब तेल ठंडा हो जाए तो दो-तीन बूंद कान में डालें।


ऑलिव ऑयल 

यदि किसी वजह से कान में दर्द हो रहा है तो आप ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए ओलिव ऑयल को हल्का गर्म कर लें। जब तेल ठंडा हो जाए तो इसकी दो से तीन बूंदें कान में डालें।


अदरक 

कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप अदरक का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। अदरक में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाए जाते हैं जो कान के दर्द को कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए सरसों के तेल में थोड़ा सा अदरक कद्दूकस करके डालें और गर्म कर लें। इसके बाद तेल को छान लें। जब तेल थोड़ा ठंडा हो जाए तो इसकी दो से तीन बूंदे कान में डालें।


कान की सिंकाई 

कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप कान की सिंकाई भी कर सकते हैं। इसके लिए आइस पैक या हॉट पैड से कान की सिकाई करें। अगर हीट पैड ना हो तो एक तौलिए को गर्म पानी में डालकर निचोड़ लें। अभी से अपने कान के आसपास की सिंकाई करें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts