रोज 10 मिनट पैर के तलवों की मसाज करने से होते हैं ये चमत्कारी फायदे


रोज 10 मिनट पैर के तलवों की मसाज करने से होते हैं ये चमत्कारी फायदे

मसाज सेहत के लिए बहुत ही आवश्यक होती है। मसाज करने से मन की मानसिक चेतना जागृत होती है साथ ही शरीर की सभी सेल्स भी जागृत हो जाती हैं। तो वहीं दूसरी ओर शारीरिक क्षमता भी बढ़ती है और कार्य करने में सरलता आती हैं। मसाज शरीर के कई भागों में की जाती है परन्तु  सबसे महत्वपूर्ण मसाज है तलवे की मसाज क्योंकि तलवे की मसाज से मानसिक वृद्धि होती है क्योंकि  तलवा मस्तिष्क से जुड़ा हुआ होता है।


कैसे करें तलवे की मसाज?


तलवे की मसाज करने के लिए आप आम तौर पर सरसों के तेल या नारियल तेल की मालिश कर सकते हैं। मालिश करने से पहले तलवे को अच्छी तरह से साफ पानी से धो लें जिससे तेल से मालिश करते समय उसमें कोई अशुद्धि ना हो। आप किसी भी प्रकार के तेल से तलवे पर मालिश कर सकते हैं।आमतौर पर जब व्यक्ति को सर्दी, जुकाम, खांसी जैसी परेशानियां होती हैं तो तलवे की मालिश की जाती हैं। तलवे के मालिश अधिक लाभकारी तब हो जाती है जब तेल गर्म कर लिया जाये और उसी गर्म तेल से मालिश किया जाए। मालिश हो जाने के बाद 10 से 15 मिनट तक पैरों  को सीधा रखें जिससे तेल पैर के तलवे में पूर्ण रूप से मिल जाए। तेल को तलवे में मिलते ही दस से पंद्रह मिनट में शरीर की सारी सेल्स यानी कोशिकाएं जागृत हो जाती हैं। सर्दियों के समय में तलवे की मालिश को अच्छी तरह से करने के बाद धूप में बैठना चाहिए जिससे "विटामिन डी" भरपूर मात्रा में मिलता है।


क्यों है तलवे की मसाज लाभकारी?


1 तलवे की मसाज शरीर के लिए अत्यंत लाभकारी है। क्योंकि पैर के अंगूठे का संबंध सीधे दिमाग के नसों से होता है और तलवे के मालिश करने से ही मानसिक चेतनाएं भी जागृत हो जाती है।


2 अंगूठे के निचले हिस्से की नसों का संबंध गर्दन, दिल और पेट से होता है। इन नशों की मालिश होते ही ये सुचारू रूप से कार्य करने लगती हैं जिससे रक्त प्रवाह की गति में तिव्रता आ जाती है और गर्दन, दिल और पेट से जुड़ी सारी परेशानियां समाप्त होने लगती हैं।

 

3 तलवे की मसाज से व्यक्ति के अंदर  चिडचिडापन दूर होता है। किसी भी बात को शालीनता से समझने के लिए बुद्धि का विकास होता है। दिमाग पर अधिक बोझ होने पर मसाज के बाद बोझ हल्का हो जाता है और मन को शांति मिलती है और शरीर के अंदर संवेदनशीलता आती है। तलवे की मसाज व्यक्ति के मानसिक और शारीरिक विकास में भी मदद करता है।


4 वृद्ध लोगों को तलवे की मालिश का अधिक लाभ होता है क्योंकि उम्र बढ़ जाने के कारण उनकी कोशिकाएं सुचारू रूप से कार्य करना बंद कर देती हैं। जिससे रक्त प्रवाह में भी कमी आ जाती है।अच्छे चिकित्सकों का मानना है कि तलवे की मालिश करने से बुढ़ापा दूर भागता है।


मसाज करते समय किन बातों का रखें ध्यान?


तलवे की मसाज अमूमन सामान्य प्रक्रिया से हो जाती है। फिर भी कुछ महत्वपूर्ण चीजें है जो आपको ध्यान रखना चाहिए, जैसे- मालिश करते समय ध्यान रहे कि तेल अधिक मात्रा में गर्म न हो जो आपके तलवे की चमड़ी को हानि पहुंचाए। मालिश करवाने के तुरंत बाद आप किसी चिकने फर्स या काँच पर  ना चलें क्योंकि मालिश के दौरान आपके पांव में तेल लग जाता है और चिकने फर्श पर चलने से आप का पांव फिसल सकता है जिससे आपको चोट भी लग सकती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts