जानिए क्या है आरोग्य सेतु ऐप, कैसे करता है काम, क्यों है जरूरी और क्या हैं इसके फायदे


जानिए क्या है आरोग्य सेतु ऐप, कैसे करता है काम, क्यों है जरूरी और क्या हैं इसके फायदे
कोरोना वायरस भारत में बड़ी तेजी से अब अपने पैर पसार रहा है। 21 दिन के लॉकडाउन के बाद 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री ने देशवासियों को चौथी बार संबोधित करते हुए इस लॉकडाउन को 3 मई तक और बढ़ाने की घोषणा कर दी है। उन्होंने अपने संबोधन में सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का पालन करने को तो कहा ही पर जो सबसे महत्वपूर्ण बात उन्होंने कही की सभी देशवासियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना बहुत जरूरी है और यह सबके लिए अनिवार्य है।

क्या है आरोग्य सेतु ऐप ?
आरोग्य सेतु इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय द्वारा विकसित एक मोबाइल एप्लिकेशन है। देश भर में कोरोनोवायरस मामलों को ट्रैक करने के लिए भारत सरकार द्वारा 1 अप्रैल, 2020 को यह ऐप लॉन्च किया गया था। आरोग्य सेतु ऐप को अपने उपयोगकर्ताओं को COVID-19 से संबंधित जोखिमों, सर्वोत्तम प्रथाओं और प्रासंगिक सलाह के बारे में सूचित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह एक तरीके का ट्रैकिंग ऐप है जो आपके मोबाइल का ब्लूटूथ और जीपीएस का इस्तेमाल कर आपको आपके नजदीकी कोरना संक्रमण व्यक्ति के बारे में सूचित करता है और उससे बचने का उपाय बताता है।

लॉन्च होते ही बना लोकप्रिय
नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि COVID-19 रोगियों पर नज़र रखने के लिए विकसित अरोग्या सेतु ऐप केवल 13 दिनों में 50 मिलियन डाउनलोड तक पहुंचने वाला दुनिया का सबसे तेज़ ऐप बन गया है। उन्होंने इसकी जानकारी अपने ट्वीट में दी जिसमें उन्होंने लिखा “टेलीफोन को 50 मिलियन उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने में 75 साल लगे, रेडियो 38 साल, टेलीविजन 13 साल, इंटरनेट 4 साल, फेसबुक 19 महीने, पोकेमॉन गो 19 दिन। आरोग्य सेतु कोरोना से लड़ने के लिए भारत का ऐप केवल 13 दिनों में 50 मिलियन उपयोगकर्ताओं तक पहुँच गया है"।

आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग कैसे करें?
1- गूगल प्ले स्टोर (एंड्रॉइड यूजर्स के लिए) या ऐप स्टोर (iOS यूजर्स के लिए) से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करें।
2- फिर एक भाषा का चयन करें। एप्लिकेशन 11 भाषाओं में उपलब्ध है - अंग्रेजी, हिंदी, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, तमिल, पंजाबी, बंगाली, उड़िया, गुजराती, और मराठी ।
3- अपने फोन की सेटिंग में जाकर ब्लूटूथ और लोकेशन को ऑन करें।
4- अपने फोन की सेटिंग से लोकेशन शेयरिंग को हमेशा के लिए "सेट" करें।
5- अब 'रजिस्टर' पर क्लिक करें।
6- 'I Agree' बटन पर क्लिक करें।
7- अब आपसे आपका मोबाइल नंबर मांगा जाएगा।
8- प्राप्त मोबाइल नंबर और ओटीपी दर्ज करें।
9- अब आप ऐप को एक्सेस कर सकते हैं।
आत्म-मूल्यांकन परीक्षण करें, दिशानिर्देश पढ़ें।

कैसे काम करता है?
आरोग्य सेतु ऐप आपके मोबाइल का ब्लूटूथ और जीपीएस का इस्तेमाल करेगा। यदि आप किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के नजदीक आते हैं तो यह ऐप आपको अलर्ट मैसेज जारी करेगा कि आप कोरोना संक्रमण व्यक्ति के नजदीक हैं और आपको उससे दूर जाने और बचाव के बारे में भी बताएगा।

आरोग्य सेतु ऐप को इस्तेमाल करने के फायदे
1. आरोग्य सेतु ऐप ब्लूटूथ-आधारित तकनीक पर काम करता है और उपयोगकर्ता के स्थान के आधार पर जोखिम का निर्धारण करने की कोशिश करता है।
2. यह उपयोगकर्ता को सूचित करता है कि वह  कोरोना से संक्रमित व्यक्ति से सिर्फ 6 फीट की दूरी पर है।
3. ऐप के उपयोगकर्ता के लिए कुछ सुविधा भी हैं जैसे कि सेल्फ असेस्मेंट टेस्ट, सोशल डिस्टेंसिंग, डू एंड डॉन, और कोरोना से संबंधित जानकारी भी देता है।
4. आरोग्य सेतु ऐप उपयोगकर्ता को एहतियाती उपायों के बारे में भी बताता है और वैश्विक महामारी के समय में सोशल डिस्टन्सिंग को कैसे बनाए रखना है इसकी भी जानकारी देता है।
5. पीएमओ के बयान के अनुसार ऐप का एक स्थान से दूसरे स्थान तक यात्रा को सुविधाजनक बनाने वाला ई-पास के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
7. यदि कोई उपयोगकर्ता जोखिम में है तो ऐप उसे पास के परीक्षण केंद्र में परीक्षण के लिए जाने और तुरंत टोल-फ्री नंबर 1075 पर कॉल करने की सलाह देता है।
8. ऐप में एक चैटबॉट भी है जो कोरोनोवायरस बीमारी या COVID-19 पर सभी बुनियादी सवालों के जवाब देता है।
9. उपयोगकर्ता भारत में प्रत्येक राज्य के लिए हेल्पलाइन नंबर भी पा सकते हैं और किस राज्य में कितने कोरोना के संक्रमित केस हैं इसकी जानकारी भी ऐप में उपलब्ध है।
10. ऐप्लिकेशन की गोपनीयता नीति यह स्पष्ट करती है कि उपयोगकर्ता का डेटा किसी भी अन्य व्यक्ति के साथ साझा नहीं किया जाएगा। यह स्पष्ट करता है कि आपका डेटा केवल भारत सरकार के साथ साझा किया जाएगा।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts