सर्वाइकल के दर्द से चाहते हैं बचना तो वर्कआउट के दौरान बचें इन गलतियों से


सर्वाइकल के दर्द से चाहते हैं बचना तो वर्कआउट के दौरान बचें इन गलतियों से

नियमित एक्सरसाइज खुद को सेहतमंद रखने के लिए की जाती है। कुछ लोग एक्सरसाइज के बाद बॉडी पेन, स्पेशली गर्दन में दर्द से परेशान रहते हैं। इसकी वजह से आपको बहुत सी परेशानियां जैसे कंधों का, दर्द चक्कर आना, जैसी प्रॉब्लम्स हो जाती हैं। यदि वर्क आउट करते हुए आपका पोश्चर सही नहीं है या आप क्षमता से अधिक वजन उठाते हैं तो आपको सर्वाइकल पेन की दिक्कत हो सकती है। सर्वाइकल रीढ़ की हड्डी का ऊपरी का हिस्सा होता है जिससे सिर को सहारा मिलता है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार इन गलतियों को दूर करके सर्वाइकल के अनचाहे दर्द से बचा जा सकता है। आइये जानते हैं वर्क आउट करते हुए कौन सी गलतियों से बचना जरुरी है-


एक्सरसाइज के दौरान होने वाली गलतियां

एक्सरसाइज के दौरान ज्यादा वजन उठाने से या सिर को गलत तरीके से झुकाने या स्ट्रेच करने से भी सर्वाइकल पेन हो सकता है।

 

डम्बल पुल ओवर में गलती

डम्बल पुल ओवर चेस्ट वर्क आउट है, इसमें ट्राइसेप्स, छाती और डेल्टॉइड्स की एक्सरसाइज की जाती है। डम्बल को पुल करते समय गर्दन को बेंच का स्पोर्ट दें और गर्दन को बेंच से ज्यादा ना झुकाएं।


बारबेल बेंट ओवर में गलती  

बारबेल एक्सरसाइज करते हुए कई बार गर्दन की हड्डियों का पोश्चर बिगड़ जाता है। इसलिए बारबेल बेंट ओवर करते समय रीढ़ की हड्डी और गर्दन की दिशा को सही रखें। अक्सर इस एक्सरसाइज के दौरान नजर सामने होती है और गर्दन का झुकाव पीछे की ओर हो जाता है जिससे रीढ़ की हड्डी पर अनावश्यक जोर पड़ता है। बारबेल बेंट पैर और कमर को बैलेंस रखने के लिए किया जाता है।   


रियर लेट पुल डाउन में गलती  

रियर लेट पुल डाउन में गर्दन को पीछे की ओर स्ट्रेच करना होता है। कई बार रियर लेट पुल डाउन के दौरान गर्दन ज्यादा स्ट्रेच हो जाती है जिससे सर्वाइकल पेन की परेशानी शुरू हो जाती है। यह बैक एक्सरसाइज है जिससे कमर को मस्कुलर बनाया जाता है। रियर लेट पुल डाउन के दौरान गर्दन का पोश्चर सही रखें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts