बदन और जोड़ों का दर्द बन सकता है अर्थराइटिस का कारण


बदन और जोड़ों का दर्द बन सकता है अर्थराइटिस का कारण

अर्थराइटिस यानि गठिया रोग जोड़ो का दर्द होता है। आजकल की भागदौड़ भरी जीवनशैली में मोटापा और गलत खानपान की वजहों से ये रोग अब सब लोगों को होने लग गया है। अर्थराइटिस में सबसे ज्यादा दर्द घुटनों में और उसके बाद कुल्हे की हड्डियों में होता है। लोग समय–समय पर अपने बदन में दर्द और अकडन महसूस करते हैं । कभी–कभी उनके हाथों, कंधों और घुटनों में भी सूजन और दर्द रहता है तथा उन्हें हाथ हिलाने में भी तकलीफ होती है । ऐसे लोगों को अर्थराइटिस हो सकता है। 

क्या होता है आर्थराइटिस- अर्थराइटिस को आम भाषा में गठिया के नाम से भी जाना जाता है, जिसका मतलब ऐसी बीमारी से है, जिसमें व्यक्ति के जोड़ों में दर्द के साथ सूजन भी आ जाती है। यह स्थिति किसी भी व्यक्ति के लिए काफी तकलीफदेह होती है क्योंकि इस दौरान उसे बहुत दर्द की स्थिति से गुजरना पड़ता है लेकिन, इसके बावजूद यह राहत की बात है कि इसका इलाज समय रहते शुरू कर लिया जाए तो कोई भी व्यक्ति इससे छुटकारा पा सकते हैं।

 

आर्थराइटिस के प्रकार- 1 ऑस्टियो-आर्थराइटिस  2 रूमैटायड आर्थराइटिस

 

1 ऑस्टियो-आर्थराइटिस- यह बढ़ती उम्र के साथ 50 साल के बाद परेशान करता है। हालांकि खराब लाइफस्टाइल की वजह से अब यह युवाओं को भी परेशान कर रहा है। इसमें आमतौर पर घुटनों पर असर होता है। इसके अलावा, उंगलियों और कूल्हों में भी परेशानी होती, लेकिन भारत में सबसे कॉमन घुटनों की दिक्कत ही है।

 

2 रूमैटायड आर्थराइटिस- यह एक ऑटोइम्यूनिटी वाली बीमारी है। रूमैटायड आर्थराइटिस होने के चांस काफी ज्यादा होते हैं। रूमैटायड आर्थराइटिस में  कोहनी, कलाई, उंगलियां, कंधे, टखने और पैर के छोटे जोड़ में भी दर्द और अकड़न हो सकती है। इसमें अक्सर दर्द शरीर के दोनों तरफ यानी दोनों पैर, टखने और कलाई में होता है।

 

आर्थराइटिस  के लक्षण- 

 

1 जोड़ों में दर्द होना

2 जोड़ों में अकड़न होना

3 घुटनों में सूजन होना

4 चलने-फिरने में तकलीफ होना

5 घुटने के दर्द वाले जोड़ों की त्वचा का लाल पड़ना

6 मोटापा

7 उंगलियों और दूसरे हिस्सों का मुड़ने लगना

8 जोड़ों से तेज आवाज आना

9 शरीर में तेज़ दर्द होना 

10 भूख कम लगना

 

आर्थराइटिस होने के कारण- 

 

1 जोड़ों में चोट लगना- आर्थराइटिस होने की संभावना तब रहती है जब किसी प्रकार की चोट आपके जोड़ों में लग जाती हैं। अधिकतर लोग अपने घुटने की चोट और दर्द को नज़रअंदाज़ कर देते हैं, तो आर्थराइटिस समस्या आ जाती है।   

 

2 आनुवंशिकी कारण का होना- कुछ बीमारियाँ शरीर में आनुवंशिकी होती हैं, उनमें से एक आर्थराइटिस भी है। 

 

3 शरीर में कैल्शियम की कमी- जिन लोगों के शरीर में कैल्शियम की कमी होती है उन लोगों को अक्सर घुटनों में की समस्या रहती है। कैल्शियम शरीर में हड्डियों को मजबूत करता हैं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts