जानें क्यों होता है साइनस और इससे बचने के घरेलू उपचार


जानें क्यों होता है साइनस और इससे बचने के घरेलू उपचार

कई बार ऐसा होता है की आपके सिर में अचानक तेज दर्द होने लगता है। ऐसे में नाक बंद हो जाती है और सांस लेने में भी तकलीफ होती है। इस दर्द को हल्के में ना लें, क्योंकि यह साइनस का दर्द हो सकता है। भारत में लगभग 15-20 प्रतिशत लोग साइनस की समस्या से पीड़ित हैं। शुरू में यह दर्द सामान्य सिरदर्द की तरह लगता है, लेकिन अगर इस पर ध्यान न दिया जाये तो यह बढ़कर गंभीर रूप ले सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे साइनस के कारण और उससे बचने के घरेलू उपय।

क्या है साइनस

साइनस विशेष तरह का दर्द है, लेकिन इसे सामान्य दर्द की तरह समझा जाता है और इसका इलाज भी उसी तरह से किया जाता है। यही कारण है की यह बढ़ता चला जाता है। शुरुआत में साइनस का दर्द बिल्कुल माइग्रेन की तरह लगता है, लेकिन ध्यान से देखा जाये तो साइनस और माइग्रेन के दर्द अलग-अलग होते है। जब चेहरे पर स्थित साइनस कैविटीज से जुडे़ टिशूज में सूजन आ जाती है तो इसे ही साइनस या साइनोसाइटिस कहते हैं। आम भाषा में कहें तो जिसमें आपकी श्वास नली में सूजन आ जाती है या नाक की हड्डी बढ़ जाती है और सांस लेने में दिक्कत होती है। साइनस का दर्द चेहरे के अगले हिस्से मसलन गले, नाक, आंखों के आसपास के हिस्से और गालों में होता है। इससे सिर भारी-भारी सा लगता है और बोलते समय आवाज भी साफ नहीं निकलती। 

साइनस के कारण

साइनस का मुख्य कारण साइनस के अंदर की चिपचिपी झिल्ली में सूजन आ जाना है। साइनस की झिल्ली में सूजन की कई सारी वजहें हैं, मसलन नाक की हड्डी का टेढ़ा होना या फिर नाक की हड्डी बढ़ जाना, बढ़ता हुआ प्रदूषण, धूल मिट्टी से एलर्जी, दांतों में दर्द, दूषित पानी का सेवन आदि, जो साइनस की वजह बन जाते हैं। 

इससे बचने के घरेलू उपचार

लाल मिर्च: लाल मिर्च, मेक्सिकन तीखी मिर्च, काली मिर्च का खाने में इस्तेमाल से साइनस की समस्या से जल्दी राहत मिलती है क्योंकि इससे बंद नाक खुल जाती है।

ड्राई फ्रूट्स: ड्राई फ्रूटस, बीजों और वेजिटेबल ऑयल में मौजूद विटमिन ई भी साइनस की समस्या को दूर करने में मदद करता है।

नारियल पानी: नारियल पानी में मौजूद पोटैशियम बॉडी को पूरी तरह से साफ कर देता है जिससे साइनस की समस्या खत्म हो जाती है।

चिकन सूप: साइनस से पिड़ित मरीज को चिकन सूप पीना चाहिए क्योंकि इसमें पाए जाने वाले ऐमिनो ऐसिड साइनस के ठीक होने में मददगार है।

हरी सब्जियां: हरी पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, संतरे और पीले फलों में मौजूद विटमिन ए भी साइनस में फायदेमंद है।

अंगूर: जूसी फ्रूट्स जैसे अंगूर, संतरा और नींबू में पाया जाने वाला विटमिन सी साइनस की समस्या को दूर करता है।

दालचीनी: एक चम्मच दालचीनी पाउडर और चंदन पाउडर पानी में मिला लें, और इस पेस्ट को माथे पर लगाएं। ऐसा करने से आपको जल्द राहत मिलेगी

लहसुन है बेहतर: लहसुन भी एक बेहतर इलाज है। इसमें मौजूद एलिसिन एन्जाइम साइनस के बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करता है।

गरम चाय: गरम चाय पीने से भी साइनस में आराम मिलता है। ग्रीन टी, अदरक वाली चाय पीने से नाक आसानी से खुल जाती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts