शरीर में इम्युनिटी पावर जानने के लिए पढ़े यह कुछ लक्षण


शरीर में इम्युनिटी पावर जानने के लिए पढ़े यह कुछ लक्षण

कोरोना वायरस लगातार बढ़ता जा रहा है, यह खतरा अब विश्वव्यापी बन गया है। डॉक्टर और वैज्ञानिकों का दावा है कि इम्यू‍निटी के कमजोर होने से कोरोना का खतरा अधिक बढ़ जाएगा। रोग प्रतिरोधक क्षमता हमें कई बीमारियों से बचा के रखती है। बेहतर इन्यूनिटी के चलते हमारा शरीर कई बीमारियों से आसानी से लड़ लेता है। इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं। इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण आप बार-बार बीमार पड़ते हैं।कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है,इस वायरस से संक्रमण के मामलों में रोज बढ़ोतरी हो रही है। डॅाक्टरों का कहना है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत होना जरूरी है। कोरोना के संक्रमण से अब पूरे देश में डर का माहौल बना हुआ है। लेकिन इस समय हमें डरने की नहीं बल्कि सतर्क और जागरूक होने की जरूरत है। डॉक्टर्स के अनुसार, कोरोना वायरस उन्हें बहुत जल्दि अपने प्रभाव में लेता है जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कमजोर होती है। इसलिए अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए अच्छी डाइट लें व योग प्राणायाम करें। लेकिन ये उपाय तो व्यक्ति तब करेगा जब उसे पता चलेगा की उसकी इम्यूनिटी कमजोर है।ऐसे में सवाल ये उठता है कि कैसे पता चले हमारी इम्यूनिटी मजबूत है या नहीं? आज हम आपको कमजोर इम्यूनिटी के कुछ लक्षण बताने जा रहे हैं।


1.मौसम बदलने पर थोड़ा बहुत बीमार पड़ना लाजमी हैं। लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जो ज्यादातर बीमार पड़ते रहते हैं। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है। इम्यून सिस्टम बैक्टीरिया, वायरस और बीमारी से लड़ता है।


2.अगर आपको चोट लगी है और वह काफी समय से ठीक नहीं हुई है तो समझ जाइए कि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है, इसी वजह से चोट ठीक नहीं हो पा रही है। अगर आप इस समस्या से जूझ रहे हैं तो अपनी डाइट में आयुर्वेदिक चीजों का सेवन करना शुरू कर दें।


3.तंबाकू का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। तंबाकू एक जानलेवा उत्पाद है जो कैंसर का कारण बन सकता है। किसी भी रूप में तम्बाकू का सेवन सांस से जुड़ी दिक्कतें पैदा कर सकता है। तंबाकू का सेवन करने से हमारे शरीर में संक्रमणों से लड़ने की क्षमता कम होने लगती है। धूम्रपान न सिर्फ हमारे फेफड़ों को खराब करता है बल्कि इसका सेवन हमारी इम्यूनिटी को भी कमजोर कर सकता है।


4.नींद पूरी न होने पर या तनाव होने पर इंसान को हमेशा थकान महसूस होने लगती है। अगर आपको भी हर वक्त थकान महसूस होती है तो इसका मतलब ये है कि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता या तो कमजोर है या हो रही है। 


5.अक्सर आपने सुना होगा कि शरीर में सारी परेशानियों की जड़ पेट से जुड़ी समस्याएं ही होती हैं। ये कुछ हद तक सही भी है, डॉक्टर भी ऐसा ही मानते हैं। अगर आपको भी पाचन संबंधी समस्याएं हमेशा होती हैं तो इसका मतलब साफ है कि आपकी इम्यूनिटी कमजोर है। 


6.कई लोगों को एलर्जी की शिकायत होती है, जिसकी वजह से कभी-कभी उन्हें बुखार भी आ जाता है। यह भी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने का संकेत हो सकता है। 


7.ऐसे ही बहुत सारे इंफेक्शन हैं, जिनका लोग कई बार शिकार होते रहते हैं।अगर आपको कोई एक या अलग-अलग संक्रमण जल्दी-जल्दी हो रहे हैं, जैसे यौन संक्रमण, स्किन इंफेक्शन, फेफड़ों का संक्रमण (खांसी, नाक बहना, सांस में तकलीफ), तो ये भी इस बात का संकेत है कि आपकी इम्यूनिटी कमजोर है।


8.अपनी दिनचर्या में से अगर आप खुद के लिए समय नहीं निकालते हैं तो आपकी इम्यूनिटी कमजोर हो सकती है। हर समय काम करने या ज्यादा बिजी लाइफ से व्यक्ति तनाव का शिकार हो जाता है जिसका सीधा असर हमारे इम्यून सिस्टम पर हो सकता है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts