ये 5 एसेंशियल ऑयल करेंगे आपके हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल, आप भी जानें


ये 5 एसेंशियल ऑयल करेंगे आपके हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल, आप भी जानें

आजकल की तनावपूर्ण जीवनशैली के कारण कई बीमारियाँ आम हो गई हैं। बढ़ते स्ट्रेस और गलत खानपान के कारण बजुर्ग ही नहीं युवा भी हाई बीपी की समस्या से पीड़ित हैं। हाई ब्लड प्रेशर के कई कारण हो सकते हैं जैसे सुस्त जीवनशैली, खाने में सोडियम की अधिक मात्रा, मोटापा, धूम्रपान आदि। हाई बीपी के कारण हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी घातक बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। आप अपने खानपान और जीवनशैली में कुछ बदलाव करके हाई बीपी को नियंत्रित कर सकते हैं। इसके अलावा आप हाई बीपी को कंट्रोल करने के लिए कुछ एसेंशियल ऑयल इस्तेमाल भी कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि कौन से एसेंशियल ऑयल हाई बीपी को कंट्रोल करने में मदद करते हैं -


लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

हाई बीपी के मरीजों के लिए लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। लैवंडर ऑयल में कई चिकित्सीय गुण होते हैं जो तनाव को कम करने में मदद करते हैं। लैवंडर ऑयल के इस्तेमाल से नींद अच्छी आती है और सिर दर्द में भी आराम मिलता है।


रोज़ एसेंशियल ऑयल

रोज़ एसेंशियल ऑयल में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं। इस तेल की खुशबू से मन शांत होता है। गुलाब के तेल का इस्तेमाल करने से ब्लड सरकुलेशन बेहतर होता है और बीपी कंट्रोल करने में मदद मिलती है।


बर्गमॉट ऑयल 

हाई बीपी में बर्गमॉट ऑयल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। इस तेल को सूंघने से डोपामाइन और सेरोटोनिन रिलीज होते हैं जिससे मूड अच्छा होता है। यह तेल तनाव कम करने में भी मदद करता है जो हाई बीपी का एक प्रमुख कारण है। आप बर्गमॉट ऑयल को किसी अन्य तेल में मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।


निरोली ऑयल 

निरोली ऑयल नारंगी के फूलों से बनता है। इस तेल में एंटी हाइपरटेंशन गुण पाए जाते हैं जो हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। निरोली ऑयल की ताजी खुशबू से मूड अच्छा होता है और तनाव कम करने में मदद मिलती है। आप किसी अन्य तेल में निरोली ऑयल मिलाकर मसाज कर सकते हैं।


लेमन ऑयल

लेमन ऑयल भी हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसकी खुशबू से मूड अच्छा होता है और तनाव कम करने में मदद मिलती है। लेमन ऑयल के इस्तेमाल से मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है और वजन कम करने में मदद मिलती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts