कोरोना में खुल गए हैं ऑफिस और जा रहे हैं काम पर तो बरतें ये सावधानियां


कोरोना में खुल गए हैं ऑफिस और जा रहे हैं काम पर तो बरतें ये सावधानियां

लगभग आधी से ज्यादा दुनिया कोरोना के संकट से जूझ रही है। भारत में इसका खतरा बीते कुछ दिनों से बहुत बढ़ गया है। पिछले दो-तीन हफ्तों से प्रतिदिन रोज 4 हजार से ऊपर मरीज आ रहे हैं। भारत में कोरोना से संक्रमित संख्या 1 लाख 6 हजार से ज्यादा हो गई है। मरने वालों की संख्या 3303 के पार जा पहुंची है वहीं इससे अब तक 42,000 लोग ठीक भी हो चुके हैं।

 

सरकार ने 31 मई तक देशव्यापी लॉक डाउन को बढ़ा दिया है, पर इस बार लॉक डाउन कई ज्यादा छूट के साथ लागू हैं। 25 मार्च से देश में सभी जरूरी सेवाओं को छोड़कर सारे सरकारी और निजी दफ्तर बंद कर दिए गए थे। सभी लोगों को वर्क फ्रॉम होम करने की हिदायत दी गई थी। लॉक डाउन 2 में दफ्तरों को 33 से 50% कर्मचारियों के साथ खोलने की इजाजत मिल गई थी।


 सोमवार 18 मई को अपने नए दिशानिर्देशों में गृह मंत्रालय ने कार्यालयों को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ चलने की अनुमति दे दी है, पर अभी भी सरकार घर से काम करने को प्रोत्साहित कर रही हैं। अब जबकि ऑफिस खुल गए हैं, तो रोड पर पहले जैसी भीड़ नजर आने लगी है। लोग अपने काम पर वापस लौट रहे हैं, पर इन सब के बीच हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि अभी कोरोना से हमारी लड़ाई खत्म नहीं हुई है। यदि आप 2 महीने के बाद अपने कार्यालय में कदम रख रहे हैं तो वह कौन-कौन सी सावधानियां हैं जो आपको अपने घर से निकलने के बाद अपने ऑफिस में और घर लौटने तक बरतनी हैं, तो सब आज हम आपको विस्तार से बताएंगे।


घर से निकलने के बाद-


1. घर से निकलने से पहले फेस मास्क और दस्ताने पहने। कभी भी इन दो चीजों के बिना ऑफिस के लिए न निकलें। उन्हें अपने शारीरिक के एक हिस्से के रूप में लीजिए जो किसी भी कीमत पर घर नहीं छोड़ा जा सकता हैं।

 

2. बसों, ट्रेनों में या कैब के अंदर किसी भी चीज जैसे हैंडल डोर आदि को छूने के बाद अपने हाथों को सैनिटाइज करें।

 

3.यदि संभव हो तो अपने निजी वाहन का उपयोग करें या सुनिश्चित करें कि आप जो भी परिवहन ले रहे हैं, उसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

 

4. यात्रा करते समय अपने चेहरे, मुंह या नाक को न छुएं क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता हैं।

 

5.सुनिश्चित करें, आप खुले में छींक या खांसे नहीं।  उस दौरान अपने रुमाल का उपयोग करें और कुछ अंतराल के दौरान उसे बदल दे।

 

6. सुनिश्चित करें कि प्रत्येक कर्मचारी कार्यालय परिसर में प्रवेश करने से पहले अपने तापमान की जाँच करवाएं। यदि इसकी व्यवस्था नहीं है, तो इस तरह की प्रणाली को लागू करने के लिए अपने नियोक्ता से आग्रह करिए।


ऑफिस में प्रवेश करने के बाद-


1. यह महत्वपूर्ण और अनिवार्य है कि कार्यस्थल के हर एक डेस्क और प्रवेश द्वार पर हैंड सैनिटाइजर रखा जाए जिससे ऑफिस में प्रवेश करने वाला व्यक्ति सबसे पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करें और फिर आगे बढ़े।

 

2. अधिकांश कार्यालय स्थानों के प्रवेश द्वारों पर बायोमेट्रिक सेंसर को छुआ जाता हैं। यह किसी भी प्रकार के वायरस और बैक्टीरिया के प्रसार के लिए एक संक्रामक स्थान बनता हैं। इससे बचने के लिए कार्यालयों को मैन्युअल लेखन के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करें।

 

3. चूंकि, हम अपने डेस्क, लैपटॉप, माउस, स्टेशनरी और टेलीफोन का उपयोग रोजाना करते हैं, इसलिए उनका उपयोग करने से पहले उन्हें नियमित रूप से साफ करें और समय-समय पर साफ करते रहें हैं।

 

4. CDC(रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र) के अनुसार, कर्मचारियों को डिस्पोजेबल कपड़े प्रदान किए जाने चाहिए ताकि आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली सतहों उदाहरण के लिए डॉर्कनॉब्स, रिमोट कंट्रोल, डेस्क को प्रत्येक उपयोग से पहले साफ किया जा सके।

 

5. वॉशरूम, कॉन्फ्रेंस रूम, किचन, कैंटीन जैसे क्षेत्र हैं, जो पूरे कार्यालय के कर्मचारियों द्वारा उपयोग किए जाते हैं। प्रबंधन को दिन में लगभग तीन-चार बार इन स्थानों की सफाई और कीटाणुशोधन सुनिश्चित करना चाहिए।

 

6. कोशिश करें घर का खाना ही खाएं, बाहर के खाने खाने से बचें।

 

ऑफिस से घर आने पर-


सीधे बाथरूम में जाएं और अपने हाथों को साबुन से कम से कम 20 सेकंड तक धोएं। इसके अलावा अपने मास्क को तुरंत गर्म पानी से धो लें और इसे सूखने के लिए लटका दें। अपने बैग, ब्रीफ़केस, चाबियों, पर्स को साफ करना ना भूलें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts