मन को शांत करने का एक तरीका है मंत्र मेडिटेशन, जानिए इसके फायदों के बारे में


मन को शांत करने का एक तरीका है मंत्र मेडिटेशन, जानिए इसके फायदों के बारे में

हमारे दिमाग में दिनभर में सैकड़ों विचार आते हैं। हालाँकि, कई बार ऐसा होता है कि हम अपने ही विचारों से परेशान हो जाते हैं। आजकल की भागदौड़ और प्रतिस्पर्धा भरी जीवनशैली में तनाव का स्तर बहुत अधिक बढ़ गया है। अत्यधिक तनाव के कारण डिप्रेशन और एंग्जायटी जैसे मनोविकार भी हो सकते हैं। ऐसे में योग और ध्यान का हमारे जीवन में महत्व और अधिक बढ़ गया है। दिमाग को शांत रखने के लिए नियमित रूप से मेडिटेशन या ध्यान का अभ्यास जरूरी है। मेडिटेशन के अभ्यास से मन स्थिर होता है और मानसिक तनाव और थकान को कम करने में भी मदद मिलती है। मेडिटेशन के जरिए हम अपना ध्यान अपने विचारों पर केंद्रित कर पाते हैं जिससे हमें स्वयं के बारे में जानने का मौका मिलता है। मेडिटेशन का अभ्यास कई तरीकों से किया जा सकता है, जिनमें से मंत्र मेडिटेशन। इस तरह के अभ्यास में किसी मंत्र का उच्चारण करते हुए ध्यान लगाया जाता है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि मंत्र मेडिटेशन क्या है और इसके क्या लाभ हैं -   


 मंत्र मेडिटेशन क्या है?

मंत्र एक संस्कृत शब्द है जो दो शब्दों से मिलकर बना है - मन जिसका अर्थ है 'मस्तिष्क' या 'सोचना' और तंत्र जिसका अर्थ है 'रक्षा करना' या ''मुक्त करना' या 'साधन'। इस प्रकार मंत्र का मतलब है अपने मन को मुक्त करना या सोच को मुक्त करना। मंत्र, मेडिटेशन के लिए उपयोग किया जाने वाला सबसे शक्तिशाली उपकरण माना जाता है। आमतौर पर लोग अलग-अलग कारणों से मंत्र साधना करते हैं। मंत्र मेडिटेशन के माध्यम से हम अपने विचारों, भावनाओं और सोच पर ध्यान केंद्रित करते हैं। साधक मन को भटकने से रोकने के लिए और स्वयं की खोज करने के लिए मंत्र मेडिटेशन का उपयोग करते हैं।  


मंत्र मेडिटेशन के फायदे 

तनाव दूर करे 

मंत्र जप की ध्वनि और लय से पूरे शरीर में ऊर्जा का प्रवाह होता है। ऊर्जा की गति हमारे दिमाग में रसायनों को नियंत्रित करती है। मंत्र मेडिटेशन तनाव हार्मोन को अवरुद्ध करता है और एंडोर्फिन के उत्पादन को बढ़ावा देता है। 


हृदय की गति नियंत्रित करे 

मंत्र मेडिटेशन से हृदय की गति नियंत्रित रहती है। 


दिमाग शांत होता है 

मंत्र मेडिटेशन से दिमाग में सकारात्मक तरंगों को बढ़ावा मिलता है, जिससे दिमाग शांत होता है। 


रक्तचाप नियंत्रित करे 

मंत्र मेडिटेशन के अभ्यास से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और ब्लड प्रेशर कम होता है। 


भय, ईर्ष्या, तनाव और क्रोध को कम करे 

मंत्र मेडिटेशन से भय, ईर्ष्या, तनाव और क्रोध जैसे नकारात्मक अवस्थाओं को कम करने में मदद मिलती है।


आध्यात्मिक ऊर्जा 

मंत्र मेडिटेशन से चंचल मन स्थिर होता है और यह हमें एक दिव्य आध्यात्मिक स्थान पर ले जाता है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts