कुछ आसान उपाय करके हम रह सकते हैं डेंगू से सुरक्षित


कुछ आसान उपाय करके हम रह सकते हैं डेंगू से सुरक्षित

मच्छरों के काटने की वजह से होने वाला डेंगू भले ही एक आम स्वास्थ्य समस्या हो, लेकिन वास्तव में यह इतनी भी आम नहीं है। कई बार जरा सी लापरवाही के कारण डेंगू से पीडि़त व्यक्ति की जान तक चली जाती है। डेंगू का नाम सुनते ही लोगों में मन में एक डर पैदा हो जाता है। यूं तो डेंगू का समय रहते इलाज शुरू कर दिया जाए तो मरीज की जान बचाई जा सकती है, लेकिन कहते हैं ना कि उपचार से बेहतर है सावधानी। इसलिए आप कोशिश करें कि आप इससे खुद को बचा सकें। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ आसान उपाय बता रहे हैं, जिसे अपनाने के बाद आप खुद को डेंगू से सुरक्षित रख सकते हैं−

 

मच्छरों को रखें दूर

डेंगू का मुख्य कारण मच्छर ही होते हैं, इसलिए कोशिश करें कि उनकी पहुंच आप तक ना हो। चूंकि मच्छर पानी में अधिक पनपते हैं, इसलिए पानी को जमा होने से रोकें। घर या ऑफिस के आसपास पानी जमा न होने दें। अगर आपके घर के पास गड्ढे हैं तो उन्हें भर दें, या नालियां रूकी हुई हैं तो उन्हें तुरंत क्लीन करें। अगर उन्हें साफ करना मुमकिन नहीं है तो भी उसमें पेट्रोल या केरोसिन ऑयल डाल दें। वहीं घर के अंदर भी पानी को जमा होने से रोकें। 

 

घर में रोकें प्रवेश

मच्छरों को घर में आने से रोकने के लिए आप खिड़की−दरवाजों पर महीन जाली लगवाएं और उस जाली वाले दरवाजे को बंद करके रखें। इससे आपके घर में हवा की आवाजाही तो होगी, लेकिन मच्छर अंदर नहीं आ पाएंगे। वहीं अगर घर के अंदर मच्छर आ गए हैं तो उन्हें दूर करने के लिए आप स्प्रे या कॉइल्स आदि की मदद भी ले सकती हैं। इसके अतिरिक्त मच्छरदानी का इस्तेमाल करना भी अच्छा विचार है।

 

खुद को करें कवर

अगर आप चाहते हैं कि डेंगू के मच्छर आपको ना काटें तो आप खुद को कवर करके रखें। मसलन, घर में भी फुल स्लीव्स कपड़ों का ही इस्तेमाल करें। इसके अलावा पैरों में जुराब आदि पहनी जा सकती है।


क्रीम का इस्तेमाल

यह भी डेंगू से बचने का एक अच्छा उपाय है। जब भी आप घर से बाहर निकलें तो मच्छर से बचाने वाली क्रीम को शरीर के खुले हिस्सों पर जरूर लगाएं। हालांकि आपको इसे कपड़ों के भीतर लगाने की कोई जरूरत नहीं है। बस ओपन एरिया में इसका इस्तेमाल करें।

 

मिताली जैन

 

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts