कैसे कीटो डाइट जल्दी वजन घटाने में करती है मदद, जानें इसमें क्या-क्या खाएं


कैसे कीटो डाइट जल्दी वजन घटाने में करती है मदद, जानें इसमें क्या-क्या खाएं

आजकल लीग वजन घटाने के लिए तरह-तरह के उपाय करते हैं। कोई जिम जाता है, कोई योग करता है तो कोई डाइट फॉलो करता है। वजन घटाने के लिए कीटोजेनिक डाइट आजकल काफी चलन में है। इसे आमतौर पर 'कीटो' डाइट कहा जाता है। कीटो डाइट में कम मात्रा में कार्बोहायड्रेट और ज़्यादा मात्रा में फैट का सेवन किया जाता है। इस डाइट से जल्दी वजन घटाने में मदद मिलती है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कीटोजेनिक डाइट कैसे काम करती है और इसमें आप क्या-क्या खा सकते हैं। 


क्या है कीटोजेनिक डाइट? 

कीटोजेनिक डाइट एक ऐसे प्रकार की डाइट है जिसमें कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, मध्यम मात्रा में प्रोटीन और उच्च मात्रा में वसायुक्त आहार का सेवन करना शामिल है। इसमें कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करना और इसे वसा के साथ बदलना शामिल है। कार्ब्स में यह कमी आपके शरीर को कीटोसिस नामक चयापचय अवस्था में डाल देती है। इसमें शरीर कार्बोहाइड्रेट्स की जगह फैट बर्न करके एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करता है। इससे शरीर का मेटाबॉलिक रेट तेज होता है और वजन घटाने में मदद मिलती है। कीटोजेनिक आहार में लोग आमतौर पर प्रतिदिन केवल 20 से 50 ग्राम कार्बोहाइड्रेट खाते हैं। आप कीटोजेनिक डाइट में निम्नलिखित चीज़ें शामिल कर सकते हैं -  


कीटोजेनिक डाइट में शामिल करें ये भोजन 

लो स्टार्च वाली सब्जियां 

केल, ब्रोकोली और फूलगोभी और पत्‍ता गोभी आदि सब्जियों में कार्बोहायड्रेट और कैलोरी की मात्रा कम होती है। लेकिन इनमें पोषक तत्वों की उच्च मात्रा होती है। आप इन्हें अपनी कीटोजेनिक डाइट में शामिल कर सकते हैं।  


नट्स और सीड्स 

नट्स और सीड्स में वसा की उच्च मात्रा होती है और इनमें कैलोरी की मात्रा कम होती है। ये फाइबर से भरपूर होते हैं, जिससे आपके पेट को भरने में मदद करते हैं और बहुत ही कम कैलोरी को अवशोषित करते हैं। आप केटोजेनिक डाइट में बादाम, काजू, पिस्ता, चिया बीज, सनफ्लावर बीज आदि शामिल कर सकते हैं।


ग्रीक योगर्ट 

प्‍लेन ग्रीक योगर्ट में प्रोटीन की उच्च मात्रा होती है। हालांकि, इसमें कुछ कार्बोहाइड्रेट होता है, फिर भी इसे कीटोजेनिक डाइट में शामिल किया जा सकता है। 150 ग्राम दही में 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 11 ग्राम प्रोटीन होता है। 


बटर

कीटोजेनिक डाइट में आप अच्छे फैट के स्त्रोत शामिल कर सकते हैं। आप अपने आहार में बटर या चीज़ शामिल कर सकते हैं। हालाँकि, इसे सीमित मात्रा में ही खाएं। किटोजेनिक 


अंडे

कीटोजेनिक डाइट में आप अंडे शामिल कर सकते हैं। एक बड़े अंडे में 1 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 6 ग्राम प्रोटीन होता है, जो इसे वेट लॉस के लिए अनुकूल आहार बनाता है। अंडे के सेवन से ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है।


सीफूड

सीफूड जैसे मछलियां, श्रिंप आदि  में विटामिन, पोटेशियम और सेलेनियम आदि जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इनमें कार्बोहायड्रेट नहीं होता है इसलिए इन्हें  आप कीटो डाइट में शामिल कर सकते हैं। 


मीट और चिकन

मीट और चिकन, कीटोजेनिक डाइट के लिए एक आदर्श भोजन माना जाता है क्योंकि ये कार्बोहाइड्रेट में कम होते हैं और इनमें प्रोटीन, विटामिन तथा कई अन्य पोषक तत्वों की अधिक मात्रा होती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts