वे बातें जो मन में डर पैदा करती हैं, जानिए कुछ अजीबो-गरीब डर के बारे में


वे बातें जो मन में डर पैदा करती हैं, जानिए कुछ अजीबो-गरीब डर के बारे में

डर मनुष्य के मन का एक भाव है। जिस तरह कोई अच्छी खबर सुनने पर हम खुश होते हैं, उसी तरह कुछ बातें मन में डर पैदा करती है। हर व्यक्ति किसी न किसी चीज से थोड़ा−बहुत डरता ही है और यह सामान्य है। लेकिन जब मन का यह डर व्यक्ति के आत्मविश्वास से बड़ा हो जाता है तो फोबिया बन जाता है। आपने भी कई तरह के फोबिया जैसे क्लोस्टोफोबिया या होमोफोबिया के बारे में जरूर सुना होगा। लेकिन आज हम आपको ऐसे कुछ फोबिया के बारे में बताएंगे, जिसे जानने के बाद आपको उस पर यकीन करना मुश्किल हो जाएगा−

ट्यूरोफोबिया

चीज़ वैसे तो बच्चों से लेकर बड़ों तक को पसंद आता है, कुछ लोग तो अपनी डिशेज में एक्सटा चीज़ डालकर खाते हैं। लेकिन ट्यूरोफोबिया से पीडि़त व्यक्ति चीज़ खाना तो दूर उसके नाम से भी दूर भागता है।

 

सिआफोबिया

सिआ का ग्रीक भाषा में अर्थ है छाया। इस तरह जो लोग सिआफोबिया से पीडि़त होते हैं, वह अपनी ही छाया से डरने लगते हैं। ऐसे लोगों के लिए रात में बाहर जाना काफी मुश्किल होता है क्योंकि परछाई उनका पीछा नहीं छोड़ती और उसके साथ उनका डर भी।

 

ओम्फालोफोबिया

यह व्यक्ति के मन का एक बेहद अजीबोगरीब डर है, जिसे जानकर शायद आप भी चौंक जाए। इसमें व्यक्ति को अपने बेली बटन से ही डर लगता है। खासतौर से, बेली बटन को छूने से। 

सोमनीफोबिया

इस फोबिया को लो हाइपोफोबिया के नाम से भी जानते हैं। इसमें व्यक्ति को डर लगता है कि कहीं वह सोते हुए गिर न जाए। आमतौर पर दुरूस्वप्न या चिंता के कारण होता है। इसलिए अगर आप खुद को रिलैक्स रखते हैं या फिर सकारात्मक सोचते हैं तो इस फोबिया से बाहर निकलना आसान हो जाता है।

 

पोगोनोफोबिया

यह दाढ़ी का डर है। पोगोनोफोबिया शब्द ग्रीक शब्द 'पोगोन' से लिया गया है जिसका अर्थ दाढ़ी होता है। अब आप सोच रहे होंगे कि कोई व्यक्ति दाढ़ी से कैसे डर सकता है, लेकिन यह सच है और दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो इस फोबिया से ग्रस्त हैं।

 

फिलोफोबिया

कहते हैं कि प्यार दुनिया का सबसे खूबसूरत अहसास है और प्यार व्यक्ति को एक बेहतर इंसान बनाता है, लेकिन कुछ लोगों के लिए यह उनके जीवन का सबसे बड़ा डर है। फिलोफोबिया से पीडि़त लोग प्यार में पड़ने से डरते हैं। 

 

मिताली जैन

 

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts