अपनी जीवनशैली को बदलें नहीं तो मोटापे के दुष्परिणाम को भुगतें


अपनी जीवनशैली को बदलें नहीं तो मोटापे के दुष्परिणाम को भुगतें

आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में लोग अक्सर अपने खान पान को लेकर लापरवाही दिखाते है जिसकी वजह से अक्सर मोटापे (obesity) का शिकार होते है। लगभग हर पाँचवां व्यक्ति आज मोटापे की समस्या से जूझ रहा है। बैठक का काम करना, व्यायाम न करना भी मोटापे के मुख्य लक्षण होते है और कई बार मोटपा वंशागति की वजह से भी हो जाता है। मोटापा स्‍वास्‍थ्‍य पर नकारात्‍मक प्रभाव भी डालता है जिसकी वजह से मोटापा बिमारियों का घर बनाने लगता है। 

मोटापे के लक्षण-  सांस फूलना, पसीने में वृद्धि, खर्राटें, अचनाक शारीरिक गतिविधि से निपटने में असमर्थता, बहुत थका थका महसूस करना, पीठ और जोड़ों में दर्द, आत्‍मविश्‍वास की कमी, अकेला महसूस करना। 

मोटापे के कारण है:- 

खाने में कैलोरी ज्यादा होना- आजकल अब लोग कैलोरी युक्त खाना इतना ज्यादा पसंद करते है कि जिसकी वजह से मोटापा हमारे शरीर में अपना घर बना लेता है। नियमित समय से खाना को खाकर सो जाना, बाहर का फैट युक्त फ़ास्ट फ़ूड खाने से मोटापा होने लगता है। 

पर्याप्त नींद ना लेना- अगर आप अपनी पुरी नींद नहीं लेते या फिर काम करने के चक्कर में आपकी नींद पुरी नहीं हो पाती ये कारण भी आपके शरीर में मोटापे की मात्रा को बढ़ावा देता है। पुरी नींद नहीं लेने की वजह से अक्सर शरीर के हार्मोन्‍स अपनी क्रिया करना बंद करने लगते है। 

जेनेटिक्स- जेनेटिक्स भी मोटापे का एक कारण बनती है। मोटापे को बढ़ावा देने वाली जीन एफटीओ (FTO) होती है जोकि छ: आदमियों में से एक को होती है। डॉक्टर के अनुसार जो लोग एफ टी ओ से संबंधित दवाएं लेते है वे लोग ज्‍यादा वसा युक्‍त खाना पसंद करते है और आम तौर पर मोटापा से परेशान रहते है।

मोटापे से होने वाले नुकसान- दिल की बीमारी,  उच्‍च रक्‍त चाप, कैंसर, पित्‍ताशय रोग, मधुमेह, उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल, गठिया, बांझपन होने के सबसे ज्यादा चांस होते है।

मोटापे के उपचार- वजन बढ़ बहुत आराम से जाता है लेकिन जब बात वजन घटाने की आती है तो हमें काफी पापड़ बेलने पड़ते हैं इसलिए आपको अपने लाइफस्टाइल को लेकर सावधान रहना चाहिए। मोटापे को कम करने के लिए इन उपचारों को जरुर अपनएं

1 अच्‍छे जीवन शैली विकल्‍पों के द्वारा वजन बढाने से रोकने में मदद मिल सकती है। हमें प्रतिदिन 20 से 30 मिनट के लिए सामान्‍य व्‍यायाम (चलना ,तैरना ,सायकलिंग ) करना चाहिए।

2 आप अपना वजन कम करने में अस्‍मर्थ है तो आप चिकित्‍सा सहायता ले सकते है। चिकित्‍सा की सहायता से आप अपना मोटापा कम कर सकते है। 

3 अपने शरीर में ताकत, सहनशीलता और पाचन प्रक्रिया को अच्छा रखने के लिए अपनी जीवनशैली में परिवर्तन जरूर लाएं।

4 अगर आप वजन खुद से घटाने में असमर्थ हो रहे हैं तो सर्जरी के माध्यम से भी आप अपना वजन घटा सकते हैं। वजन को कम करने के लिए आप बैरिएट्रिक सर्जरी करवा सकते है। 

5 मिठाई, तेल, घी, दूध, अंडे, शराब, मांस और धूम्रपान से थोड़ी दुरी बनाकर रखें। 

अगर आप भी मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं तो इन चीजों को आजमा कर अपनी जीवन शैली में जरूर परिवर्तन लाने की कोशिश करें। 

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts