स्वस्थ्य संतान के लिए पिता का स्वस्थ्य होना है जरुरी


स्वस्थ्य संतान के लिए पिता का स्वस्थ्य होना है जरुरी

संतान सुख ऐसा सुख है जिसकी कामना सब लोग करते हैं लेकिन कुछ ऐसे भी होते है जिनके घर में बच्चों की किलकारी नहीं गूंजती है। औरतों के आलावा आदमियों में भी बांझपन देखने को मिलता है। ऐसा इसलिए होता है कि संतान पाने के लिए महिला और पुरूष दोनों का सेहतमंद होना आवश्यक होता है नहीं तो संतान सुख प्राप्त नहीं हो पाता। इस दिक्कत को मेडिकल भाषा में इनफर्टिलिटी कहा जाता है। ये समस्या पुरुष और महिलाओं दोनों में देखी जाती है। 

क्या है पुरुष बांझपन(इनफर्टिलिटी)- पुरुष बांझपन एक बहुत बड़ी समस्या है आम भाषा में पिता नहीं बनने की स्थिति को इनफर्टिलिटी कहा जाता है। जब किसी पुरूष के गुुप्त अंग पर्याप्त मात्रा में स्पर्म को उत्पन्न नहीं कर पाता है, तो इसके परिणामस्वरूप वे दंपत्ति संतान सुख से वंचित रह जाते हैं। 

 

पुरूष बांझपन होने के प्रकार

 

1. स्पर्म की गुणवत्ता में कमी आना। 

2. स्पर्म का आसमानी रंग का निकलना।

 

पुरूष बांझपन के लक्षण

 

वीर्य (सीमेन) से कम मात्रा में स्पर्म का निकलना

स्पर्म के बाहर निकलने में समस्या होना भी पुरूष बांझन के मुख लक्षणों में से एक है

यौनिक क्रिया की इच्छा का कम होना

अंडकोष में दर्द या सूजन होना

चेहरे और शरीर पर बालों का कम होना 


पुरूष बांझपन के कारण- 


स्पर्म का कम होना- स्पर्म कौशिका से एग फर्टिलाइज होता है और शरीर में पौष्टिक पदार्थ होने से स्पर्म को तैरने में सहायता करता है लेकिन शरीर में पौष्टिक पदार्थ की मात्रा में कमी आने पर अक्सर पुरूष बांझपन का कारण बन जाता है। 

 

स्पर्म की संख्या का कम होना- किसी व्यस्क में स्पर्म की सामान्य संख्या 15 मिलियन स्पर्म सेल प्रति सीमेन होती है। इस संख्या में कमी होने पर स्पर्म की एग में प्रवेश करने की संभावना कम हो जाती है। जिसकी वजह से महिलाओं को माँ बनने में दिक्कत आती है इस कारण का सबसे जल्दी पता चल जाता है। स्पर्म की  मात्रा में कमी आना सबसे बड़ा कारण है।

 

अंडकोष की नसों में वृद्धि होना- इस स्थिति में अंडकोष की नसे सूज जाती हैं जिसमें स्पर्म की मात्रा बनना कम होने लगती है। इससे शुक्राणु की गुणवत्ता भी कम हो जाती है। 

 

ड्रग और शराब का सेवन करना- अगर कोई पुरुष नसों का आदी है तो उनकी स्पर्म की गुणवत्ता में कमी आने लगती है।

 

अगर आप भी इन दिक्कतों का सामना कर रहे हैं या फिर आपको ऐसा लगता है कि ये लक्षण आपकी दिक्क्तों से मिल रहें है तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts