अगर सिर्फ एक एक्सरसाइज से हटाना चाहते हैं अपना मोटापा तो अपनाएं ये टिप्स


अगर सिर्फ एक एक्सरसाइज से हटाना चाहते हैं अपना मोटापा तो अपनाएं ये टिप्स

मोटापे जैसी समस्या से आजकल लगभग हर तीसरा व्यक्ति जूझ रहा है और जब भी बात बेली फैट की आती है तो हम इसे कम करने का कोई आसान तरीका ढूंढते हैं। सबसे मुश्किल काम है पेट का फैट कम करना और इसके लिए बहुत से लोग घंटों तक जिम में पसीना बहाते हैं।

 

अगर हम बात गृहणियों की करें तो उनके पास इतना समय नहीं होता कि वो बेली फैट के लिए जिम करें। अगर आप भी उनमें से एक हैं, जिनके पास एक्सरसाइज के लिए समय नहीं है तो फिर ऐसा तरीका ढूंढते हैं, जिससे कुछ ही समय में बेली फैट के साथ-साथ हिप्स और थाई फैट पर भी असर पड़े।


अक्सर लोग कोर एक्सरसाइज की बात करते हुए स्क्वैट्स, लंजेस, प्लैंक आदि के बारे में बताया जाता है, लेकिन हम आपको बताते हैं कुछ ऐसी एक्सरसाइज जिससे बेली फैट पर तो असर पड़ता ही साथ ही लोअर बॉडी की फुल टोनिंग भी होती है। इस एक्सरसाइज को करने में शुरुआत में शायद आपको थोड़ी मेहनत करनी ही पड़ती है, लेकिन कुछ ही दिनों में ये बहुत अच्छा असर दिखाने लगती है और आपको खुद फर्क महसूस होता है।


आज हम आपको जिस एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे वो है 'Bird-Dog Crunch' जिसे आमतौर पर सिंगल लेग-हैंड रेज़ भी कहते हैं। अब आपको लगेगा कि ये बहुत मुश्किल होगी, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है। एक बार अगर आप इसकी आदत डाल लें तो ये एक्सरसाइज बहुत ही अच्छी सबित होगी और आसान भी है।


क्या है इससे फायदा?

बर्ड-डॉग क्रंच एक्सरासइज का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसमें सभी कोर मसल्स को एक साथ काम करने के लिए ट्रेन किया जाता है और सारी मांशपेशियों का फैट बर्न होता है।


बर्ड-डॉग एक्सरसाइज का काम ?

कोर मसल्स-लोअर बेली और थाई की मसल्स पर ये एक्सरसाइज बहुत अच्छा काम करती है। 6 पैक एब्स वर्कआउट के साथ-साथ ये स्पाइनल कॉर्ड के लिए भी फायदेमंद है। 


ग्लूट्स- मसल्स पर भी ये एक्सरसाइज बहतरीन काम करती है। हिप्स और हिप एक्सटेंशन पर भी इस एक्सरसाइज का असर आप देख सकते हैं।


शोल्डर- कंधों से जुड़ी मांसपेशियों पर भी ये एक्सरसाइज काम करती है।

इस समय हम हाथ और पैर साथ में चला रहे होते हैं इसलिए ये एक्सरसाइज हमारे शरीर के कई हिस्सों पर एक साथ काम करती है। इससे हमारे शरीर का पॉस्चर सही होता है। और साथ ही, बेली फैट भी घटता है और कंधों के आस-पास फैट में भी कमी आती है। हिप्स और थाई में ज्यादा समस्या होने पर ये एक्सरसाइज उसे भी ठीक करती है।


कैसे करनी है ये एक्सरसाइज-


1. सबसे पहले आपको घुटनों और हाथों के पंजों के बल जमीन पर बैलेंस होना है। इसे एनिमल पोज़ कहा जाता है। ये वैसे ही बनाना है जैसे घुटनों के बल चलने के लिए पोज़ बनाया जाता है।


2. आपके घुटने हिप्स से 90 डिग्री एंगल में होने चाहिए और हाथों के पंजे कंधों से 90 डिग्री एंगल में होने चाहिए। पीठ को सीधा रखना है।


3. अब अपने राइट हैंड को आगे बढ़ाएं और उसी के साथ अपने लेफ्ट पैर को पीछे की ओर ले जाएं।


4. इस पोजीशन में 5 सेकंड तक रहने की कोशिश करें। इसके बाद हाथ और पैर दोनों वापस ले आएं और अब लेफ्ट हैंड और राइट पैर के साथ ऐसा ही करें।

5. इस एक्सरसाइज को आप पहले 1-1 मिनट दोनों साइड से करने की कोशिश करें। अगर बिलकुल बैलेंस नहीं बना पा रही हैं तो इसे 30-30 सेंकड के लिए करें।


आप सहज ही इस एक्सरसाइज का समय बढ़ा सकते हैं और कठिन बनाने के लिए इसमे आप अपने घुटने और कोहनी को टच भी कर सकते हैं। यानि राइट पैर और लेफ्ट हैंड की कोहनी को टच करें और फिर पैर और हाथ पहले वाली पोजीशन में ले आएं।


जो ये एक्सरसाइज नही कर पा रहे हैं


अक्सर ऐसा होता है कि हमारे मसल्स बहुत ज्यादा टाइट होते हैं। कई बार रोजाना एक्सरसाइज न करने की आदत के कारण हमारी बॉडी सही से काम नहीं कर पाती है। ऐसे समय में आप इस एक्सरसाइज को थोड़ा आसान बना सकते हैं। इसे करते समय पहले हाथ उठाएं फिर पैर। दोनों एक साथ न उठाएं। जब इसकी प्रैक्टिस हो जाए तब एक साथ हाथ और पैर उठाएं। इस एक्सरसाइज के लिए किसी भी तरह के इक्विपमेंट या मशीन की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए ये सस्ता और फायदेमंद भी है, इसे जरूर अपनाएं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts