सेहत के लिए अच्छा होता है झपकी लेना, जानिए इसके फायदे


सेहत के लिए अच्छा होता है झपकी लेना, जानिए इसके फायदे

अमूमन लोगों को यह कहते हुए सुना जाता है कि दिन के समय नहीं सोना चाहिए। यह बात सच होते हुए भी पूरी तरह सच नहीं है। दरअसल, अगर आप दिन के समय कुछ देर का नैप या झपकी लेते हैं तो वास्तव में यह आपकी सेहत के लिए काफी अच्छा है। तो चलिए जानते हैं नैप लेने से स्वास्थ्य को होने वाले कुछ फायदों के बारे में−

याददाश्त में सुधार 

अध्ययनों से पता चला है कि नैपिंग के जरिए व्यक्ति की याददाश्त में सुधार होता है। दिन की एक झपकी से आप चीजों को बेहतर तरीके से याद रख पाते हैं। इस प्रकार दिन में ली गई नैपिंग भी रात की नींद की तरह ही महत्वूपर्ण है। इतना ही नहीं, इससे आपकी एकाग्रता भी बढ़ती है, जिसके कारण आप घर से लेकर ऑफिस तक बेहतर परफार्म कर पाते हैं।

कार्यक्षमता में सुधार

झपकी लेना आपकी काम करने की क्षमता को भी बेहतर बनाता है। दरअसल, जब आप सुबह से काम करते-करते थक जाते हैं तो थका हुआ दिमाग कोई भी कार्य नहीं कर पाता। इतना ही नहीं, आप जो काम करते हैं, उसमें आवश्यकता से अधिक समय लगा देते हैं और फिर भी अपना बेस्ट नहीं दे पाते। वहीं अगर आप कुछ देर का नैप लेकर काम शुरू करते हैं तो खुद को फ्रेश फील करते हैं। इस स्थित में आपका काम जल्दी और बेहतर तरीके से होता है।

बेहतर मूड

जब व्यक्ति खुद को थका हुआ महसूस करता है तो उसका मूड भी ऑफ हो जाता है क्योंकि वह जो करना चाहता है, उसे कर नहीं पाता। जबकि नैप लेने से सारी थकान गायब हो जाती है, जिसके कारण आपका मूड भी बेहतर होता है।

कैफीन से बेहतर

कुछ लोग थकने पर खुद को फ्रेश करने के लिए चाय या कॉफी का सेवन करते हैं। लेकिन जरूरत से ज्यादा चाय या कॉफी का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है क्योंकि इसमें कैफीन होता है। वहीं अगर आप नैप लेंगे तो भी आप खुद को फ्रेश व एनर्जेटिक महसूस करेंगे। इस तरह नैप लेना वास्तव में कैफीन लेने से बेहतर है।

इसका रखें ध्यान

नैपिंग यकीनन सेहत के लिए अच्छी है, लेकिन आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। सबसे पहले तो आप खाना खाने के तुरंत बाद न लेंटें। दूसरा, नैप लेने और सोने में बहुत अंतर होता है। आप दस मिनट से लेकर आधे घंटे तक के लिए झपकी ले सकते हैं, लेकिन उससे अधिक नहीं। 

- मिताली जैन

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts