शरीर का बेहद महत्वपूर्ण अंग है लिवर, जानें लिवर को स्वस्थ रखने के आसान उपाय


 शरीर का बेहद महत्वपूर्ण अंग है लिवर, जानें लिवर को स्वस्थ रखने के आसान उपाय

लिवर हमारे शरीर का एक अहम अंग है। यह शरीर से विषैले पदार्थों यानि टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद करता है। हम जो भी खाते-पीते हैं उसे पचाने में भी लिवर मदद करता है। लिवर के बिना हमारे शरीर के काम करने की क्षमता ना के बराबर हो जाती है। लेकिन कई बार हम अपनी भागदौड़ भरी जीवन शैली और खान-पान की गलत आदतों के चलते लिवर के स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं देते हैं जिसके कारण फैटी लिवर, लिवर सिरोसिस और हेपेटाइटिस जैसी गंभीर बीमारियाँ होने का खतरा बढ़ जाता है। लिवर को साफ और स्वस्थ रखने के लिए सही खान-पान और अच्छी जीवनशैली बहुत जरूरी है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप अपने लिवर की देखभाल कैसे कर सकते हैं -  


पपीता खाएँ 

पपीता पेट व लीवर की बीमारियों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। पपीता विटामिन ए और विटामिन सी से भरपूर होता है। इसके साथ ही इसमें फाइबर और एंटी-ऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं जो कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। लिवर सिरोसिस की बीमारी में पपीते करना बहुत लाभकारी साबित होता है। इसके लिए हर रोज़ दो चमच पपीता के जूस में आधा चमच नींबू का रस मिलाकर पिएँ। इस जूस का तीन-चार हफ्ते तक नियमित सेवन करने से लिवर स्वस्थ बनेगा और लिवर सिरोसिस में लाभ होगा। 


लहसुन से होगा फायदा 

लहसुन हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी है। लहसुन का सेवन करने से ऐसे एंजाइम सक्रिय होते हैं जो लिवर में मौजूद विषैले पदार्थों या टॉक्सिंस को बाहर निकालते हैं। इसके अलावा लहसुन में एंटीऑक्सिडेंट, एंटीबायोटिक और एंटिफंगल गुण मौजूद होते हैं, जो हमारे लीवर को साफ और स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।  


लिवर के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है गाजर

गाजर को विटमिन ए का खजाना माना जाता है, जो लिवर की बीमारी को रोकता है। रोजाना गाजर के जूस का सेवन करने से लीवर की गर्मी और सूजन दूर होती है। इसके साथ ही गाजर में इनप्लांट फ्लेवोनॉयड्स और बीटा-कैरोटीन नामक तत्व भी पाए जाते हैं जो लीवर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। लीवर सिरोसिस की बीमारी में गाजर और पालक का रस मिलाकर पीने से बहुत लाभ होता है।


हरी पत्तेदार सब्जियाँ खाएं 

यह तो आप जानते ही होंगे कि हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद होता है। हरी पत्तेदार सब्जियाँ हमारे खून में मौजूद विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करती हैं। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करने से शरीर में भारी धातुओं का असर कम होता है और लिवर मजबूत बनता है। अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां अवश्य शामिल करें। 


नींबू के सेवन से होगा लाभ  

नींबू में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो लिवर जो साफ रखने में मदद करता है। नींबू के रस का सेवन करने से लिवर में गैस्ट्रिक जूस निकलते हैं। ये गैस्ट्रिक जूस हाजमा सही करते हैं और शरीर से टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद करते हैं। दिन में एक से दो बार नींबू पानी या नींबू की चाय का सेवन करें। 


अच्छी जीवनशैली अपनाएँ 

लीवर को स्वस्थ रखने के लिए अच्छी जीवनशैली अपनाएं। अक्सर वजन बढ़ने से फैटी लिवर व अन्य बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। वजन को नियंत्रित करने के लिए पौष्टिक आहार लें और नियमित रूप से व्यायाम करें। 


शराब और कैफीन का सेवन ना करें 

अत्यधिक मात्रा में कैफीन और शराब का सेवन करने से शरीर में टॉक्सिंस यानि विषैले पदार्थ जमा हो जाते हैं। लिवर को साफ और स्वस्थ रखने के लिए धूम्रपान और शराब का सेवन ना करें। इसके साथ ही कैफीन का अत्यधिक सेवन करने से बचें।  

 

नियमित जॉंच करवाएँ 

हर छह महीने या एक साल में अपनी लिवर संबंधी जॉंच करवाएं। यदि आपका वजन ज़्यादा है या आपको लिवर संबंधी परेशनी है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts