फिट रहने के लिए अपनाएं आयुर्वेद के ये 7 नियम, बीमारियां आपको छू भी नहीं पाएंगी


फिट रहने के लिए अपनाएं आयुर्वेद के ये 7 नियम, बीमारियां आपको छू भी नहीं पाएंगी

आयुर्वेद एक प्राचीन और प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली है। कई हज़ार वर्षों से आयुर्वेद का इस्तेमाल स्वास्थ्य के तमाम गंभीर रोगों के उपचार के लिए होता चला आ रहा है। आयुर्वेद के अनुसार मनुष्य के शरीर में तीन मुख्य तत्व होते हैं - वात, पित्त और कफ। जब शरीर में इन तत्वों का संतुलन बिगड़ जाता है तो व्यक्ति को कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।  इसके साथ ही आयुर्वेद में कुछ ऐसे नियम बताए गए हैं जिनके अभ्यास से हमारे स्वास्थ्य को विशेष लाभ मिलता है। आयुर्वेद में बताए गए नियमों का पालन करके हम स्वस्थ कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से राहत पा सकते हैं। आज के इस लेख में हम आपको आयुर्वेद में बताए गए नियमों के बारे में जानकारी देंगे -


  • आयुर्वेद के अनुसार सुबह सूर्योदय से पहले उठ जाना चाहिए। आयुर्वेद में बताया गया है कि सूर्योदय के समय वातावरण अमृत के समान शुद्ध निर्मल होता है जिससे हमारे शरीर को ताजगी मिलती है।
  • आयुर्वेद के अनुसार सुबह खाली पेट दो से तीन गिलास पानी पीना स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होता है। इससे उच्च रक्तचाप, कब्ज, अपच, नेत्र रोग और मोटापा आदि रोगों में फायदा होता है।
  • आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के बाद नहाना नहीं चाहिए। दरअसल जब हम खाना खाते हैं तो हमारे शरीर में ऊर्जा और गर्मी पैदा होती है। पानी से नहाने के बाद शरीर ठंडा हो जाता है जिससे सर्दगरम हो सकता है। खाना खाने के बाद नहाने से आप बीमारी की चपेट में जल्दी आ सकते हैं।
  • आयुर्वेद के अनुसार दिन में कम से कम 3 से 4 लीटर पानी पीना चाहिए। इससे शरीर में पानी की कमी से बचाव होता है और दिन भर के कामों के लिए ऊर्जा बनी रहती है। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से शरीर से हानिकारक तत्व बाहर निकलते हैं और यह किडनी और पाचन क्रिया को स्वस्थ रखता है।
  • आयुर्वेद के अनुसार दिन में सोना नहीं चाहिए। अक्सर लोग दिन में खाना खाने के बाद कुछ देर सो जाते हैं। लेकिन इससे आपके स्वास्थ्य को नुकसान हो सकता है। दरअसल ऐसा करने से पाचन तंत्र ठीक तरह से काम नहीं कर पाता है। आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के बाद थोड़ी देर टहलना चाहिए।
  • आयुर्वेद के अनुसार सुबह की शुरुआत पौष्टिक नाश्ते से करनी चाहिए। आयुर्वेद में बताया गया है कि सुबह उठने के एक-दो घंटे के भीतर नाश्ता कर लेना चाहिए। इससे दिन की शुरुआत अच्छी होती है और शरीर को दिन भर के कामों के लिए ऊर्जा मिलती है।
  • आयुर्वेद के अनुसार स्वस्थ रहने के लिए अच्छी और पर्याप्त नींद लेना भी बहुत जरूरी है दिन में कम से कम 8 से 9 घंटे की नींद ले इससे शरीर को आराम मिलेगा और आप ताजा और ऊर्जावान महसूस करेंगे। आयुर्वेद में बताया गया है कि सोने से पहले ठंडे पानी से हाथ पैरों को धोना चाहिए इससे नींद अच्छी आती है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts