हाइट कम होने की वजह से वजन घटाने में होती है परेशानी तो एक बार जरूर पढ़ें


हाइट कम होने की वजह से वजन घटाने में होती है परेशानी तो एक बार जरूर पढ़ें

अधिक वजन या मोटापा आज के समय में एक ऐसी समस्या है, जो तकरीबन हर व्यक्ति को है कोई भी अपने वजन को लेकर संतुष्ट नहीं है हर कोई फिट और स्लिम दिखना चाहता है मोटापे का सबसे बड़ा कारण है आलस और गलत खाना। वैसे तो वजन घटाना किसी के लिए भी आसान नहीं होता। व्यक्ति के बॉडी मास इंडेक्स के जरिए यह पता चल सकता है कि उसे वेट लूज के लिए कितनी कैलोरीज कम करने की जरूरत है। 


हालांकि किसी को वजन घटाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है तो कोई बिना कुछ किए ही वजन घटा लेता है। वहीं, रिसर्च के मुताबिक लंबे लोगों के मुकाबले छोटे  लोगों को वजन घटाने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। चलिए हम आपको बताते हैं कि आखिर क्यों, कम हाइट के लोगों को वजन घटाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है।


क्यों होती है अधिक परेशानी?

असल में लंबे लोगों की बजाए कम हाइट वाले लोगों में मास इंडेक्स कम होता है। इसके अलावा, उनका मेटाबॉलिज्म भी कम होता है, जिसकी वजह से उन्हें वजन कम करने में ज्यादा परेशानी आती हैं। जिन लोगों का मेटाबॉलिक रेट हाई हो उन्हें वजन घटाने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती।


एक और मुख्य कारण

दूसरी बात यह है कि लंबे लोगों की मांसपेशियां ज्यादा फ्लेक्सिबल होती हैं, जिसकी वजह से उनका शरीर सोते या आराम करते समय भी कैलोरी बर्न करने में सहायता करता है। जबकि छोटे हाइट वाले लोगों के साथ ऐसा नहीं होता।


डाइट पर दें ध्यान

विशेषज्ञों के अनुसार, कम हाइट वाले लोगों को वजन कम करने के लिए खाना-पीना नहीं छोड़ना चाहिए। लेकिन कम हाइट वाले लोगों को एक बार पेट भर कर खाने की बजाए दिन में 3-4 मील्स लेनी चाहिए और हल्का भोजन करना चाहिए। साथ ही, डाइट में प्रोटीन युक्त फूड्स अधिक लेने चाहिए।


कुछ खास बातें

कम हाइट के लोगों को अपना बॉडी मास इंडेक्स हर महीने चेक कराना चाहिए ताकि आप उसके हिसाब से अपनी डाइट फिक्स कर सकें।

 

छोटी हाइट के लोगों में अक्सर लोअर बॉडी में फैट जमा होता है, इसके लिए योग व एक्सरसाइज जरूर करें।

 

कम हाइट वाले लोगों को वजन घटाने के लिए हर रोज कम से कम आधा घंटा वेट लिफ्टिंग करने चाहिए।

 

दिनभर में कम से कम 8-9 गिलास पानी जरूर पीएं। इसके अलावा नारियल पानी, जूस या डिटॉक्स वॉटर को भी दिनचर्या में शामिल करें।

 

कभी भी घर या ऑफिस में एक ही जगह पर ज्यादा देर बैठें ना रहें। हो सके तो लिफ्ट की बजाए सीढ़ियों का इस्तेमाल करें।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts