जानें डायरिया के कारण, लक्षण और इससे बचने के घरेलू उपाय


जानें डायरिया के कारण, लक्षण और इससे बचने के घरेलू उपाय

हम सभी जानते हैं की आज के समाय में गलत खान-पान और प्रदूषण से लोगों को कई सारी बिमारीयां होती रहती हैं, उन्ही में से एक बिमारी डायरिया है। आम भाषा में डायरिया को दस्त भी कहते है। तो इसी को ध्यान में रखते हुए आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे डायरिया क्या है, इसके लक्षण और इससे बचने के उपाय के बारे में।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, अगर दिन में 3 से ज्यादा बार पानी के साथ अधिक मात्रा में मल त्याग हो रहा हो तो यह डायरिया का लक्षण है। डायरिया में रोगी के शरीर में पानी की अत्यधिक कमी हो जाती है, जिससे उसका शरीर कमजोर हो जाता है। इसके बाद शरीर में इन्फेक्शन फैलने का खतरा बहुत बढ़ जाता है। समय पर सही इलाज नहीं होने पर रोगी की जान भी जा सकती है। 

डायरिया के लक्षण

बार-बार मल त्याग करना

मल पतला होना

पतले दस्त, जिनमें जल का मात्रा अधिक होता है, थोड़े-थोड़े समय के अंतर से आते रहना।

डायरिया के कारण

इसकी मुख्य वजह प्रदूषित पानी और गलत खाना-पीना है।

पेट में कीड़ों या बैक्टेरिया के संक्रमण से।

वायरल इन्फेक्शन के कारण।

साफ सफाई ठीक से न होने से।

शरीर में जल की कमी होने से।

किसी दवाई के रिऐक्शन से।

पाचन शक्ति कमजोर होने से।

डायरिया से बचने के घरेलू उपचार

-केले को दही के साथ खाने से डायरिया जल्दी नियंत्रण में आता है, और नियमित रूप से ऐसा करने से जल्द ही ठीक हो जाता है।

-चौथाई चम्मच काली मिर्च पाउडर, आधा चम्मच अदरक का रस, आधा चम्मच नींबू का रस मिला कर दिन में दो बार लें। ऐसा करने से आपको बहुत फायदा मिलेगा।

-अगर पेट में ऐंठन और दर्द ज्यादा हो तो अदरक की चाय पीने से आराम मीलेगा।

-अगर आम की गुठली का पाउडर उपलब्ध हो तो इसे पानी के साथ लेने से डायरिया बहुत जल्दी ही ठीक हो जाता है।

-1 चम्मच अदरक के रस को लगभग 100 ml गर्म पानी में मिलाकर गर्म-गर्म पीएं, इससे आपको मन चाहा रिजल्ट मिलेगा

-सौंफ और जीरा बराबर मात्रा में ले और इसे तवे पर सेक कर पाउडर बना लें। 3-5 ग्राम चूर्ण पानी के साथ हर 4 घंटे के बाद ले, इससे आपको डायरिया से जल्दी आराम मिलेगा।

-सबसे पहले जीरा को तवे पर सेक लें और इसका पाउडर बना ले। 250 मि.लि छाछ में 3 ग्राम जीरा-पाउडर डालकर और इसमें थोड़ा काला नमक मिलाकर दिन में तीन बार पीने से डायरिया में आराम होता है।

-50 ग्राम शहद 250 मि.लि पानी में मिलाकर पीलें ऐसा करने से डायरिया से जल्द ही निजात मिलेगी।

-एक ग्राम मेथी दाना, एक ग्राम भुना जीरा, 50 ग्राम दही में मिलाकर पीने से लाभ होगा।

-कच्चा पपीता उबालकर इसका सेवन करने से आपको फायदा मिलेगा ।

तो अब आपको पता चल गया होगा की डायरिया क्या है और इसके लक्षण क्या-क्या हैं और आप इससे कैसे बच सकते हैं।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts