जानिए खाली पेट आपको क्या खाना चाहिए और क्या नहीं


जानिए खाली पेट आपको क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

कहा जाता है कि इंसान जैसा खाना खाता है उसी हिसाब से उसका शरीर बनता हैं। पर हमारे शरीर पर सबसे ज्यादा तब असर पड़ता है जब हम खाली पेट खाना खाते हैं।हमारा पेट दो टाइम खाली रहता है। एक तो सुबह उठने के बाद हमारा पेट खाली रहता है और दोपहर का खाना खाने के बाद और रात का खाना खाने से पहले शाम के टाइम हमारा पेट खाली रहता है। खाली पेट रहने पर हमारा शरीर स्विच ऑफ मोड पर हो जाता है। तो शरीर को स्विच ऑन करने के लिए हमें भोजन की जरूरत पड़ती है ताकि हमारे शरीर को ऊर्जा मिल सके।


ऐसे में देखा जाए तो बहुत सी चीजें हैं जिनका सेवन अगर हम खाली पेट करें तो वह हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं।इसके विपरीत कई ऐसी भी चीजें हैं जिन्हें हम अगर खाली पेट खाएं तो वह हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकती हैं और हमें लंबे समय तक दुखदाई कर सकती हैं। आज के दौर में बहुत ही कम लोगों को इस बात का अंदाजा है कि हमें सुबह खाली पेट क्या-क्या फल ,सब्जियां खानी चाहिए क्योंकि हर एक फ़ल ,सब्जी का अपना अपना महत्व होता है कि वह फल, सब्जी खाली पेट खाई जानी चाहिए या नहीं।


बहुत से फल सब्जियां और अन्य चीजें जो हम अपनी दिनचर्या में खाते हैं, क्या पता उनमें से ही कुछ चीजें सिर्फ सुबह खाली पेट खाने पर ही हमारे शरीर को नुकसान दायक हो।उन फल सब्जियों को अगर हम सामान्य टाइम पर खाएं जैसे दोपहर का खाना या रात्रि का खाना।इन समय पर खाएं तो वे हमारे शरीर  के लिए बहुत फायदेमंद होती है। यह सब बातें बहुत ही कम लोग जानते हैं। बहुत ही कम लोगों को इन सब बातों का अंदाजा रहता है कि हमारे जीवन शैली में किस टाइम पर क्या फल सब्जियां खानी चाहिए और क्या नहीं।


तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि हमें खाली पेट क्या क्या फल सब्जियां नहीं खानी चाहिए।


टमाटर और खट्टे फल


टमाटर और खट्टे फल जैसे कि मौसमी,संतरा और कीवी इन सब का सेवन करने से शरीर को बहुत फायदा मिलता है।बहुत से लोग इन सब फलों का सेवन अपनी दिनचर्या में करते हैं। जो लोग वजन घटा रहे होते हैं वह सुबह खाली पेट टमाटर का सेवन करते हैं। साथ ही साथ कुछ लोग काम पर जाने से पहले सुबह एनर्जी बढ़ाने के लिए खाली पेट मौसमी, संतरे का जूस पीते हैं। परंतु इन सब फलों का खाली पेट सेवन नहीं करना चाहिए। टमाटर में उपलब्ध टैनिक एसिड और मौसमी,संतरे में उपलब्ध सिट्रिक एसिड यह दोनों एसिड खाली पेट नहीं लेने चाहिए क्योंकि इन एसिड को खाली पेट सेवन करने से शरीर में कब्ज की शिकायत बन जाती है। सेब और तरबूज आप सुबह खाली पेट खा सकते हैं क्योंकि इन दोनों फलों को सुबह खाली पेट खाना अच्छा माना गया है। जिन लोगों के पेट में कब्ज की शिकायत रहती है या जिन लोगों का पेट सुबह साफ नहीं हो पाता है उनके लिए पपीता रामबाण इलाज है। सुबह खाली पेट पपीते का सेवन करने से यह शिकायत दूर हो जाएगी।


चाय और कॉफ़ी


आज के दौर में भारत में चाय और कॉफी का सेवन बहुत ज्यादा बढ़ गया है। हम सुबह उठ कर खाली पेट पहले चाय या कॉफी का सेवन करते हैं। चाय में उपलब्ध कैफ़ीन सीधा हमारे दिमाग पर असर करता है। जिससे हमें इसकी आदत होने लगती है और जिस दिन हमें चाय या कॉफी नहीं मिलती है तो उस दिन हमें सिर में दर्द होने लगता है। जब हम ज्यादा देर तक खाली पेट रहते हैं तो हमारे पेट में एसिड बनने लगता है और फिर हम खाली पेट चाय या कॉफी का सेवन करते हैं तो पेट में एसिड की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं। जिससे हमें हायपर एसिड, माइग्रेन आदि जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए कभी भी चाय या कॉफी का सेवन खाली पेट ना करें। अगर आपको चाय या कॉफी की आदत पड़ गई है तो आप चाय को लाइट बनाएं उसमें दूध की मात्रा ज्यादा रखें।


केला


बहुत से लोग सुबह खाली पेट केले का सेवन करते हैं। कई लोग वर्कआउट पर जाने से पहले केला खाकर जाते हैं क्योंकि यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसे धोना नहीं पड़ता, इसे तुरंत खाया जा सकता है। इसलिए कई लोग अपने सुबह के नाश्ते के लिए केले का इस्तेमाल करते हैं। केले में अधिक मात्रा में मैग्नीशियम पाई जाती है जो कि सुबह खाली पेट अच्छा नहीं माना जाता क्योंकि इससे हमारे दिल पर बुरा प्रभाव पड़ता है।कई लोग वर्कआउट से पहले केला खाकर जाते हैं यह भी सही नहीं है। केला खाने से वर्कआउट करते टाइम पेट में दर्द होना शुरू हो जाता है केले के साथ कुछ ना कुछ जरूर खाना चाहिए।दलियाऔर ओएट्स इनके साथ केले का सेवन करने से शरीर को बहुत फायदा मिलता है।


चिंगम चबाना


कई लोगों को चिंगम चबाना बहुत पसंद है। कुछ लोग काम करते वक्त और वर्कआउट करते वक्त चिंगम चबाते हैं।वैसे तो चिंगम चबाना हमारी सेहत के लिए नुकसानदायक नहीं होता। परंतु खाली पेट चिंगम चबाना सेहत के लिए हानिकारक है क्योंकि जब हम खाली पेट चिंगम चबाते हैं तो हमारे शरीर को लगता है कि हम कुछ खा रहे हैं।शरीर दिमाग को खाना पचाने के सिग्नल देता है फिर शरीर में पाचन रस की मात्रा बढ़ने लगती है। खाली पेट पाचन रस की मात्रा बढ़ने से यह हमारे आंतों और पेट को हानि पहुंचाती है। खाली पेट चिंगम चबाने से हमें स्वास्थ्य वर्धक चीजों को छोड़कर जंक फूड, ज्यादा मीठा ,ज्यादा तीखा खाने की आदत पड़ जाती है।


दही


दही खाना हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दही में लैक्टिक एसिड होता है जिस का सेवन करने से शरीर को बहुत फायदा मिलता है। परंतु जब हमारा पेट खाली होता है तो उसमें हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है।जोकि दही में मौजूद लैक्टिक एसिड के साथ मिलने पर हमारी हेल्थ पर बहुत बुरा प्रभाव डालता है।इसलिए दही का सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए।सुबह के नाश्ते में दूध दलिया एक अच्छा चुनाव है।


शराब


भारत में बहुत लोग शराब के शौकीन हैं।कुछ लोग खाना खाने से पहले शराब का सेवन करते हैं ।जिससे शराब का नशा ज्यादा होता है और पेट भी जल्दी नहीं भरता है ।परंतु कभी भी शराब का सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए क्योंकि खाली पेट पी गई शराब हमारे शरीर पर 10 गुना ज्यादा बुरा असर डालती है। खाली पेट पी गई शराब सीधा हमारी किडनी ,लीवर और दिमाग पर असर डालती है। खाली पेट शराब का सेवन करने से सर दर्द, हैंगओवर और पेट में तकलीफ होने जैसी दिक्कत बन जाती है।इसलिए शराब का सेवन करने से पहले कुछ ना कुछ खा लेना चाहिए।याद रखें शराब का सेवन करते समय पानी की मात्रा ज्यादा रखें, यदि संभव हो तो शराब का सेवन कभी भी नहीं करना चाहिए।


मीठा


भारत में कई लोग तीखा खाने के शौकीन होते हैं तो कई लोग मीठा खाने के शौकीन होते हैं। वैसे तो ज्यादा मीठा खाना हमारी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। परंतु सुबह खाली पेट मीठा खाने से यह हमारे शरीर पर बहुत ज्यादा बुरा प्रभाव डालती है। सुबह खाली पेट मीठा खाने से शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बहुत बढ़ जाती है। जिसे बचाने के लिए शरीर को इंसुलिन की मात्रा अधिक चाहिए होती है। जिसका बुरा असर सीधे हमारे पेनक्रियाज पर पड़ता है और पैंक्रियास पर बुरा असर पड़ने से डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। मोटापा और पेट की चर्बी बढ़ने का मुख्य कारण भी सुबह खाली पेट मीठा खाना होता है।अगर आपको सुबह खाली पेट में मीठा खाने की आदत है तो आप शहद का इस्तेमाल करें।खाली पेट शहद का सेवन करने से शरीर को बहुत फायदा मिलता है।साथ ही साथ शहद हमारे दिमाग के लिए बहुत अच्छा माना गया है।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts