जानिए स्वास्थ्य की नजर से करेले के फायदे और नुकसान


जानिए स्वास्थ्य की नजर से करेले के फायदे और नुकसान

करेला बहुत से लोग खाना पसंद नहीं करते। इसका मुख्य कारण है इसका कड़वा स्वाद। करेला खाने से आप खुद को बहुत सी बीमारियों से दूर रख सकते हैं। करेला एक बहुत ही फायदेमंद सब्जी है जो कि डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण इलाज हैं। डायबिटीज मरीजों के लिए करेले का जूस बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है। करेले में कैलोरी की मात्रा और सब्जियों के मुकाबले कम होती है इसलिए इसे खाने से वजन नहीं बढ़ता है। करेले का जूस हमारे शरीर की बीटा कोशिकाओं को सुरक्षित करता है। करेले में कोलेस्ट्रॉल एवं कार्ब्स की मात्रा कम होती है। इन सब बातों को मद्देनजर रखते हुए हम आपको आज बताने जा रहे हैं कि करेले के फायदे के साथ-साथ इसके नुकसान। 


करेले के नुकसान:


1.लीवर डिजीज में कम खाएं करेला


अगर आप किसी लिवर की बीमारी से जूझ रहे हैं तो आप को करेला बिल्कुल नहीं खाना चाहिए। फैटी लीवर हो या लिवर से जुड़ी कोई और बीमारी हो तो इसमें करेला खाने से लीवर को नुकसान पहुंच सकता है।लिवर में पाया जाने वाला लेक्टिन तत्व प्रोटीन के संचार को रोकता है और इससे लीवर में समस्या उत्पन्न हो सकती है। करेले का लेक्टिन तत्व लीवर में एंजाइम्स को बढ़ाता है जोकि लीवर के लिए बहुत ही हानिकारक है।


2.करेले से बच्चों को हो सकती हैं उल्टी


बच्चों को करेला खाना बिल्कुल पसंद नहीं है क्योंकि इसका कड़वा स्वाद बच्चों के दिलों को नहीं भाता है।पेरेंट्स को भी बच्चों को करेला जबरदस्ती नहीं खिलाना चाहिए क्योंकि करेला जबरदस्ती खिलाने से बच्चे को उल्टी के साथ-साथ डायरिया भी हो सकता है।किसी भी चीज को जबरदस्ती खिलाने से बच्चा चिड़चिड़ा भी हो जाता है, जोकि उसकी सेहत के लिए बेहद खराब है।


3.डायबिटीज के मरीजों के लिए भी नुकसानदायक है करेला


वैसे तो करेला डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण इलाज है क्योंकि करेला ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है। परंतु अधिक मात्रा में करेला खाने से डायबिटीज के मरीजों को यह नुकसान भी पहुंचा सकता है, क्योंकि किसी भी सब्जी को अधिक मात्रा में खाने से उसका नुकसान हो सकता है। उदाहरण के लिए शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी के विपरीत अगर हम पानी को अधिक मात्रा में पी लें तो पानी भी शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है।वैसे ही करेला भी डायबिटीज के मरीजों के लिए भी नुकसान देह है।अधिक मात्रा में करेला खाने से डायबिटीज के मरीजों को हिमॉलिटिक एनीमिया होने का खतरा बढ़ जाता है।


करेला खाने के फायदे:


1.करेला खांसी को रोकने में मदद करता है


करेला शरीर की खांसी को दूर करने में बहुत मदद करता है क्योंकि करेले में उत्पन्न फास्फोरस तत्व कफ़ ना बनने में मदद करता है।खांसी के मरीजों के लिए करेले का जूस इन दोनों बहुत ही ज्यादा लाभकारी है।इसका सेवन करने से आपको किसी भी कफ सिरप की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।


2.करेला शरीर के विशैल तत्वों को निकालने में मदद करता है


आजकल का खानपान खाने से शरीर में टॉक्सिंस की मात्रा बढ़ जाती है जोकि शरीर के वजन बढ़ाने में बहुत सहायक होते हैं अर्थात टॉक्सिंस शरीर के वजन को बढ़ाते हैं ।करेले में 85% से लेकर 90% तक पानी होता है जो की भूख दबाने में मदद करता है। करेले का जूस शरीर में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकालता है।


3.त्वचा के लिए फायदेमंद


यदि आप करेले का नियमित रूप से सेवन करेंगे तो यह आपकी त्वचा के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद रहेगा।करेले के सेवन से त्वचा को चमकती है और दोष मुक्त भी रहती है। साथ ही यह रक्त शुद्ध करता है और इसकी वजह से चेहरे पर मुँहासे भी नही होते।


4.अस्थमा की बीमारी में बहुत ही ज्यादा फायदेमंद


जिन लोगों को अस्थमा से संबंधित परेशानी होती है उनके लिए करेला बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है। यदि आप सही तरह से केरेले का सेवन करते हैं तो इसके सेवन से आपको इस बीमारी में बहुत राहत मिलेगी। दवा रोग वाले व्यक्ति अगर करेले की बगैर मसाले सब्जी खाते हैं तो उनको इस बीमारी से निजात पाने में मदद मिलती है।


5.पेट की समस्याओं में लाभकारी


करेले के सेवन से आप पेट की समस्याओं से भी निजात पा सकते हैं। यदि आपको लंबे समय से पेट मे होने वाली गैस या दर्द की समस्या है तो आप करेले की मदद ले सकते हैं।जब भी आपके पेट मे गैस बने या अपच जैसी परेशानी हो तो ऐसे में आप करेले के रस का सेवन कर सकते हैं, यह आपके लिए बहुत ज्यादा लाभकारी साबित होगा।


डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts