माउथ फ्रेशनर ही नहीं है सौंफ, कोलेस्ट्रॉल, तनाव समेत कई बीमारियों में भी है फायदेमंद


माउथ फ्रेशनर ही नहीं है सौंफ, कोलेस्ट्रॉल, तनाव समेत कई बीमारियों में भी है फायदेमंद

खाने के बाद माउथ फ्रेशनर के तौर पर सौंफ तो आपने खाई ही होगी। क्या आप जानते हैं कि सौंफ आपको कई बीमारियों से भी बचा सकती है? जी हाँ, सौंफ में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। सौंफ में कैल्शियम, सोडियम, आयरन, विटामिन ए, विटामिन सी, फाइबर और पोटैशियम जैसे कई खनिज तत्व पाए जाते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीसेप्टिक गुण भी मौजूद होते हैं, जो कई बीमारियों से बचाव करते हैं। आज के इस लेख में हम आपको सौंफ के फायदे बताएंगे -  


सौंफ में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में फायदेमंद होता है। फाइबर, कोलेस्ट्रोल को खून में घुलने से रोकता है जिससे दिल की बिमारियों से बचाव होता है। 


सौंफ, स्ट्रेस यानि तनाव को कम करने में भी फायदेमंद होती है। सौंफ में विटामिन-सी पाया जाता है, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है। इससे बढ़ती उम्र में दिमाग से जुड़ी समस्याएं काफी हद तक कम हो सकती है। वहीं, इसमें मौजूद  विटामिन-ई एंटीऑक्सीडेंट के तौर पर काम करता है और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से कोशिकाओं को क्षति पहुंचने से रोक सकता है।


सौंफ को माउथ फ्रेशनर के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। सौंफ के दाने चबाने से मुंह की दुर्गंध खत्म हो जाती है। सौंफ चबाने से मुंह में लार अधिक मात्रा में बनती है, जो बैक्टीरिया को दूर करने में मदद करती है। 


पेट संबंधी समस्या में सौंफ का सेवन बहुत अच्छा माना जाता है। सौंफ में एंटीस्पास्मोडिक (पेट और आंत में ऐंठन दूर करने वाली दवाई) और कार्मिनेटिव (एक तरह की दवा, जो पेट फूलने या गैस बनने से रोकती है) गुण होते हैं जो पेट दर्द, पेट में सूजन और गैस जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने के साथ ही अल्सर, दस्त और कब्ज आदि से राहत दिलाने में भी कारगर साबित हो सकती है।


स्मरण शक्ति तेज़ करने के लिए सौंफ को फायदेमंद माना जाता है। बादाम, सौंफ और मिश्री को समान मात्रा में पीस लें। रोज दोपहर और रात में खाना खाने के बाद इसका सेवन करने से स्मरण शक्त‍ि बढ़ती है।


अनियमित पीरियड्स की समस्या में सौंफ का सेवन फादेमंद होता है, अगर पीरियड्स अनियमित है तो भी आप सौंफ का सेवन कर सकती हैं। गुड़ के साथ इसके सेवन से फायदा होगा।


सौंफ खाने से आंखों की रोशनी भी बेहतर होती है। सौंफ में विटामिन ए होता है जो आँखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है। सौंफ को मिश्री के साथ खाने से आँखों की रोशनी तेज़ होती है और इसके साथ ही आँखों में जलन और खुजली की समस्या भी दूर होती है। 


वजन कम करने के लिए भी सौंफ बहुत लाभदायक मानी जाती है। सौंफ में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इसके सेवन से शरीर में अतिरिक्त फैट को बनने से रोकती है। सौंफ की चाय पीने से वेट लॉस में मदद मिलती है। इसके लिए एक कप पानी में एक चम्मच सौंफ दाल कर उबाल लें। फिर इसे छान कर पिएँ।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts