क्या आपको पता है कौनसा दूध पीना सेहत के लिए होता है फायदेमंद


 क्या आपको पता है कौनसा दूध पीना सेहत के लिए होता है फायदेमंद

एक बात हमे हर कोई समझाता है कि दूध पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए जरूरी और फायदेमंद होता है। लेकिन यह कोई नहीं बताता है कि कौन-सा वाला दूध पीना हमारे लिए अच्छा है? अगर आप भी इसी सवाल को लेकर परेशान रहते हैं तो हाल ही में आई रिसर्च आपकी मदद कर सकती है। 


अब समझने वाली बात ये है कि हर जगह तो हम गोशाला से दूध मंगवा नही सकते। गांव जैसी सुविधा तो हर जगह नहीं मिलेगी। इसलिए शहरों में तीन तरह के दूध बेचे जाते हैँ। टोंड मिल्क, डबल टोंड मिल्क और फुलक्रीम मिल्क। 


1. फुलक्रीम मिल्क में मलाई होती है और इसमें फैट काफी मात्रा में होता है। 

2. टोंड मिल्क को फेंट करके उसमें से फैट निकाल लिया जाता है। इसलिए इसमें फैट की मात्रा फुलक्रीम की तुलना में कम होती है।

3. डबल टोंड मिल्क में सबसे कम फैट होता है। 

 

आमतौर पर हम मानते हैं कि टोंड या डबल टोंड मिल्क फायदेमंद होता है। इनमें फैट की मात्रा कम होती है, इसलिए इसे दिल के लिए हेल्दी माना जाता है। साथ ही इससे वजन नहीं बढ़ता है इसलिए इसे महिलाएं जरूर पीती हैं। एक कप डबल टोंड मिल्क में केवल 111 कैलोरी होती है, इसलिए वेट लूज़ करने के दौरान यही मिल्क पिया जाता है। 


लेकिन इस रिसर्च में पाया गया है कि फुल क्रीम दूध की तुलना में जब आप टोन्ड मिल्क पीते हैं तो आपकी सेहत पर इसके बुरे प्रभाव पड़ सकते हैं। आजकल के लोगों अपने काम मे बहुत ही ज्यादा व्यस्त रहते हैं, उनके पास इतना समय नहीं होता है कि वह अपनी सेहत का ख्याल रख सकें। ऐसे में लोग पेट भरने के लिए ज्यदातर उल्टी सीधी चीजें खाने लगते हैं जिसकी वजह से उनका वजन काफी हद तक बढ़ जाता है, इसलिए उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।


अपनी स्लिम बॉडी को वापस पाने के लिए और शरीर के मोटापे को रोकने के लिए लोग अलग-अलग तरीके अपनाते हैं।।जिससे कारण उनकी सेहत पर काफी बुरा प्रभाव भी पड़ता है। उदाहरण के तौर पर लोगों का मानना है कि फुल क्रीम दूध से मोटापा बढ़ता है जिसके बदले वह टोन्ड दूध का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं।लेकिन बहुत कम लोगो को पता है कि टोन्ड मिल्क आपके लिए बहुत ज्यादा नुकसान दायक साबित हो सकता है? एक रिसर्च में इस बाद की पुष्टि हुई है कि फुल क्रीम दूध की अपेक्षा जब आप टोन्ड मिल्क पीते हैं तो आपकी सेहत पर इसके बुरे प्रभाव पड़ते हैं। इस रिसर्च से यह बताया गया है कि लो फैट दूध से मोटापा कम होता है यह तथ्य बिल्कुल गलत है। 


कनाडा के सैंट माइकल्स हॉस्पिटल के शोधकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि की है। इस शोध के अनुसार जो लोग फुल क्रीम दूध पीते हैं वो लोग ज्यादा मोटापे के शिकार नहीं होते बल्कि उनकी तुलना में टोन्ड मिल्क पीने वाले लोगों के अन्दर ज्यादा मोटापा पाया जाता है। कनाडा और अमेरिका में ज्यादातर बच्चे टोन्ड मिल्क का सेवन करते हैं, जो अन्य देशों की तुलना में ज्यादा मोटापे के शिकार होते हैं। 


वहीं बच्चों की बात की जाए तो डाइट एक्सपर्ट्स मानते हैं कि बच्चों को फुल क्रीम मिल्क देना चाहिए, क्योंकि यह इसमें मौजूद फैट में कुछ ज़रूरी पोषक तत्व, जैसे बिटा कैरोटिन, विटामिन-डी, विटामिन-ई को पचाने और बच्चों के विकास में मदद करता है। मोटापा के लिए दूध को जिम्मेदार ठहराना ठीक नहीं है। लेकिन आज के समय सोच समझ के साथ ही अपनी सेहत को ध्यान में रख के ही दूध और अन्य चीज़ो का इस्तेमाल करना चाहिए।


डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।


Related Posts